रामचरितमानस की प्रतियां जलाने वाले ये पांच गिरफ्तार,स्वामी प्रसाद मौर्य की तलाश जारी


रामचरितमानस की प्रतियां जलाने के मामले में पीजीआई थाने में रविवार देर रात पूर्व मंत्री व सपा एमएलसी स्वामी प्रसाद मौर्या सहित दस लोगों पर केस दर्ज किया गया। इनमें से पांच को सोमवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया। पूर्व मंत्री सहित बाकी की तलाश में दबिश जारी है।
एडीसीपी पूर्वी सय्यद मो. अली अब्बास के मुताबिक ऐशबाग निवासी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला कार्य समिति के सदस्य सतनाम सिंह उर्फ  लवी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया था। सतनाम का आरोप था कि इन लोगों ने रामचरितमानस की प्रतियां जलाकर एक समुदाय की भावना को आहत करने, सांप्रदायिक दंगा, विद्वेष फैलाने, हिंसा के लिए लोगों को उकसाने, कानून व्यवस्था को बिगाड़ने का प्रयास किया। इसके बाद सैनिक नगर के सत्येंद्र कुशवाहा, आलमबाग के यशपाल सिंह लोधी, साउथ सिटी के देवेंद्र प्रताप यादव, बलदेव विहार तेलीबाग के नरेश सिंह और उतरेटिया के सलीम को गिरफ्तार किया गया। एडीसीपी के मुताबिक स्वामी प्रसाद मौर्या, महेंद्र प्रताप यादव, सुजीत यादव, एसएस यादव और संतोष वर्मा की तलाश में टीम दबिश दे रही है।
रामचरितमानस पर स्वामी प्रसाद मौर्या के बयान को समर्थन देने के लिए अखिल भारतीय ओबीसी महासभा ने रविवार सुबह वृंदावन योजना तिराहे पर प्रदर्शन किया था। इस दौरान कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों ने रामचरित मानस की प्रतियां जलाते हुए नारेबाजी की थी। महासभा के पदाधिकारी देवेंद्र यादव ने कहा था कि श्रीरामचरित मानस में कई चौपाइयों में जातियों के विषय में गलत बातें लिखी हैं। प्रदेश सरकार से श्रीरामचरित मानस में लिखित चौपाइयों को हटाने और संशोधित करने का बयान जारी किया था।
रामचरितमानस की प्रतियां जलाने के विरोध में कई हिंदू संगठनों ने प्रदर्शन किया। अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों के साथ परिवर्तन चौक पहुंचे। यहां ओबीसी महासभा को प्रतिबंधित करने और आरोपियों पर रासुका लगाने की मांग की। महासभा के पदाधिकारियों ने डीसीपी मध्य अपर्णा रजत कौशिक को ज्ञापन दिया और पांच आरोपियों की गिरफ्तारी पर आभार जताया।

Comments

Popular posts from this blog

कांवड़ यात्रियों के लिए मुख्यमंत्री का शख्त आदेश, तो अखिलेश, मायावती का शख्त विरोध, जानें क्या है आदेश

हाईकोर्ट का शख्त आदेश एसपी जौनपुर एवं एसएचओ झूंसी लापता महिला को कोर्ट में करे हाजिर,जानें क्या है मामला

पैतृक सम्पत्तियों को विवाद मुक्त करने के लिए जानिए क्या व्यवस्था कर रही है यूपी सरकार, नहीं लगाने होंगे तहसील के चक्कर