चीनी मिल में भीषण ब्लास्ट से इंजीनियर की मौत, आगजनी से उपकरण जले मिल अनिश्चित काल के लिए हुई बन्द


धार्मिक नगरी अयोध्या कें मसौधा चीनी मिल में सोमवार तकरीबन 2:30 बजे चीनी मिल के टरबाइन में ब्लास्ट हो गया। घटना में 38 वर्षीय इलेक्ट्रिक इंजीनियर विपिन सिंह के सिर के चीथड़े उड़ गए। ब्लास्ट इतना जबरदस्त था कि घटना के बाद चीनी मिल के बॉयलर समेत अंदर के उपकरणों में आग लग गई। हजारों के उपकरण आग की भेंट चढ़ गए। घंटों अफरातफरी  का माहौल रहा। इसी बीच फायर ब्रिगेड दस्ते की तीन दमकल गाड़ियों ने मौके पर पहुंचकर सांयकाल 4:30 बजे तक आज को बुझाने का काम जारी रखा।
वहीं दूसरी तरफ थाना पूरा कलंदर प्रभारी ने मौके पर पहुंचकर मृत इंजीनियर के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम  के लिए भिजवाने की तैयारी शुरू कर दी है। विद्युत संयंत्र में ब्लास्ट हो जाने की वजह से जहां एक ओर आग की लपटें चीनी मिल के 50% भाग में फैल कर समूचे चीनी मिल को धुएं के अंधेरे में तब्दील कर दिया। तो दूसरी तरफ ट्रैक्टर ट्रॉली से गन्ना आपूर्ति को मिल के अंदर प्रवेश कर चुके किसानों समेत चीनी मिल कर्मियों में भगदड़ मच गई। चीनी मिल प्रबंधन के अनुसार गन्ना पेराई कार्य अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है।
जानकारों से पता चला है कि सोमवार सुबह 10 बजे से चीनी मिल में गन्ना पेराई कार्य पूरे रफ्तार में चल रहा था। दोपहर बाद करीब 2 बजे विद्युत आपूर्ति में तकनीकी खराबी आने की वजह से दो इलेक्ट्रिक मोटरों में विद्युत आपूर्ति ठप हो गई थी। ठप पड़े विद्युत संचालित मोटरों की खराबी को समझने के लिए इलेक्ट्रिक इंजीनियर विपिन सिंह 38 वर्ष मौके पर पहुंचकर विद्युत उत्पादन केंद्र के संयंत्रों के पास पहुंचकर खराबी का पता ही कर रहे थे। कि इसी दौरान ओवरलोड के चलते विद्युत उत्पादन संयंत्र में ब्लास्ट हो गया।
ब्लास्ट होते ही बॉयलर तक आग लग गई। जब तक लोग माजरा समझते तब तक इलेक्ट्रिक इंजीनियर के सिर का चीथड़ा उड़ कर शव से अलग दिखाई पड़ा। देखते ही देखते आग की लपटें चीनी मिल के अंदर 50% से अधिक उपकरणों को अपने आगोश में ले चुकी थी। धूं- धूं कर उपकरण जल रहे थे। घंटे भर के अंतराल में चीनी मिल के अंदर का परिसर आग के धुएं में तब्दील हो गया।
आज की चपेट में आने से कब कहां कौन सा टैंक ब्लास्ट हो जाए इस डर से धुएं के अंबार में चौतरफा भगदड़ मच गई। हालांकि घटना के घंटे भर के अंतराल में फायर ब्रिगेड के जवान तीन दमकल गाड़ियों को लेकर मौके पर पहुंच गए। आग बुझाने का काम 5 बजे तक जारी रहा है। हजारों के उपकरण जलकर नष्ट हो गए हैं।
मामले में थानाध्यक्ष पूरा कलंदर रतन कुमार शर्मा ने बताया कि  सोमवार दोपहर बाद करीब 2.30 बजे चीनी मिल के विद्युत उत्पादन संयंत्र में ब्लास्ट हो गया। ब्लास्ट हो जाने की वजह से फैक्ट्री में आग लग गई। घटना में विपिन सिंह 38 वर्ष नामक इलेक्ट्रिक इंजीनियर के सिर के चीथड़े उड़ गए हैं। हालांकि शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम को भिजवाया जा रहा है। आग बुझाने का काम शांयकाल तक जारी है।
घटना के बाबत चीनी मिल के अधिशासी निदेशक सुभाष चंद्र अग्रवाल का कहना है कि विद्युत उत्पादन संयंत्र में ब्लास्ट हो जाने की वजह से विपिन सिंह 38 वर्ष नामक इंजीनियर की मौके पर ही मौत हो गई। फैक्ट्री के 50% हिस्से में लगे इलेक्ट्रिक उपकरण जलकर नष्ट हो गए हैं।  बताया कि फैक्ट्री का खुद का विद्युत उत्पादन केंद्र है। जिसमें टरबाइन समेत अनेकों इलेक्ट्रिक संयंत्र लगाए गए हैं।
चीनी मिल अपने लिए 15 मेगावाट बिजली का उत्पादन करती है। जिसमें आज सोमवार करीब ढाई बजे तकनीकी खराबी के चलते संयंत्र ब्लास्ट हो गया। चीनी मिल में अनिश्चितकाल के लिए गन्ना पेराई कार्य बंद कर दिया गया है। गन्ना किसानों से अपील भी की जा रही है। कि वह बगैर अगली सूचना के ना तो गन्ने की कटाई करें और ना ही चीनी मिल में गन्ना आपूर्ति के लिए लेकर आए।

Comments

Popular posts from this blog

जिले के पांच प्राथमिक विद्यालयो के औचक निरीक्षण में तीन विद्यालय के मास्टरो को मिली कारण बताओ नोटिस, रोका गया वेतन

स्कूल के आफिस में प्रिसिंपल और टीचर की अश्लील हरकते हुई वायरल,पुलिस क्यों है बेखबर?

परिषदीय विद्यालयो में डिजिटल उपस्थित का शिक्षको के विरोध के बीच अब सीएम योगी का दखल,जानिए जिम्मेदारो को क्या मिला आदेश