डिप्टी सीएमओ की अचानक हुई मौत से विभाग में हड़कंप, लाश का होगा पोस्टमार्टम


सीएमओ कार्यालय में तैनात डिप्टी सीएमओ अनूप कुमार (55) की सोमवार 11 दिसम्बर की सुबह अचानक मौत की सूचना के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। घटना की सूचना पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर जुगल किशोर राय, सकलडीहा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉक्टर संजय कुमार यादव सहित अन्य स्वास्थ्यकर्मी मौके पर पहुंचकर शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए जिला अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया। वहीं इसकी सूचना परिजनों को मोबाइल के जरिये दी गई। जानकारी के बाद परिजनों में कोहराम मच गया और वे घर से जिला अस्पताल के लिए रवाना हो गए।
जानकारी के अनुसार जनपद चन्दौली के मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में तैनात डिप्टी सीएमओ अनूप कुमार पिछले डेढ़ वर्षों से सेवाएं दे रहे थे। वह जिला मुख्यालय पर ही कमरा लेकर अकेले रहते थे। रविवार की रात भोजन के बाद सोए थे। इसी दौरान उनकी मौत हो गई। सुबह उनकी गाड़ी का ड्राइवर उनको चाय देने गया तो जगाने पर शरीर में कोई हरकत नहीं हुई। 
ड्राइवर ने इसकी जानकारी मोबाइल के माध्यम से मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. जुगल किशोर राय को दी। डिप्टी सीएमओ की मौत की सूचना पर तत्काल सीएमओ सहित अन्य स्वास्थ्यकर्मी वहां पहुंच गए। हार्ट अटैक के चलते मौत की आशंका जताई जा रही है। 
सूचना के बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी व सकलडीहा सीएचसी के प्रभारी संजय कुमार यादव मौके पर पहुंचकर परिजनों को सूचना देते हुए उनके शव को पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया। बताया जा रहा है कि डिप्टी सीएमओ अनूप कुमार गोरखपुर के निवासी थे। उनकी पत्नी भी देवरिया जिले के पडरौना में सरकारी सेवाएं दे रही हैं। डिप्टी सीएमओ के पास दो पुत्रियां एवं एक पुत्र भी है। सभी लोग चंदौली के लिए रवाना हो गए हैं।
इस संबंध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर जुगल किशोर राय ने बताया कि सुबह 6 बजे डिप्टी सीएमओ के मोबाइल से ही उनके गाड़ी के चालक द्वारा मुझे उनकी मौत की सूचना दी गई, जिस पर तत्काल अपने सहयोगियों के साथ मौके पर पहुंचे। यहां परीक्षण के दौरान वह मृत पाए गए। उनके शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी हाउस में रखवा दिया गया है। परिजनों को सूचना भी दे दी गई है। हालांकि प्रथम दृष्टया उनकी मौत हार्ट अटैक से होने की आशंका है। पोस्टमार्टम के बाद मौत की वजह स्पष्ट होगी।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा चपरासी ढाई लाख रुपए घूस ले रहा था चपरासी सहित एसीओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद