नदी में स्नान करने गये एक परिवार के पांच बच्चे गहरे जल में समाए दो की लाश मिली तीन की तलाश जारी, परिवार में कोहराम


बाराबंकी जिले के टिकैतनगर थाना क्षेत्र के चिर्रा गांव के पास शनिवार दोपहर सरयू नदी में एक युवक और चार बच्चों समेत पांच लोग डूब गए। डूबने वालों में दो सगे भाई हैं। युवक इन बच्चों को बचाने में डूबा। कड़ी मशक्कत के बाद नदी से दो शव बरामद हुए हैं। गोताखोर तीन अन्य लोगों की तलाश नदी में कर रहे हैं। नदी के किनारे कई गांव की भीड़ इकट्ठा है और परिजनों में कोहराम मचा है।
पुलिस के अनुसार, टिकैतनगर थाना क्षेत्र के चिर्रा गांव निवासी मोहम्मद शकील के दो पुत्र अहमद रजा (15) और हमजा (12) के साथ परिवार के ही महमूद आलम का पुत्र शाफ अहमद और शाफ का मौसेरा भाई अयोध्या जिले के रुदौली थाना क्षेत्र के एथर गांव निवासी अयान (10) शनिवार की दोपहर गांव से करीब 300 मीटर दूर सरयू नदी किनारे पहुंचे थे। यहीं पर नदी से कुछ दूरी पर स्थित खेतों के पास महमूद आलम का छोटा भाई नूर आलम (26) थ्रेसर से गेहूं की मड़ाई कर रहा था।
इस दौरान चारों बच्चे नदी में नहाने लगे। नहाते-नहाते सभी बच्चे नदी के बीच टापूनुमा रेती पर पहुंचे और दूसरी ओर बह रही धारा में नहाने के लिए उतरे। बताते हैं कि वहां पानी काफी गहरा था और नदी में घुसते ही सभी डूबने लगे। अयान की चीख सुनकर गेहूं की मड़ाई कर रहा नूर आलम दौड़ता हुआ नदी किनारे पहुंचा और उसने बच्चों को डूबते देखा तो पानी में छलांग लगा दी लेकिन वह किसी को बचाने की बजाय स्वयं धारा में समा गया। शोरगुल सुनकर आसपास खेतों में काम कर रहे ग्रामीण नदी किनारे पहुंचे और आनन फानन गांव तक सूचना गई। कुछ ही देर में नदी के किनारे पूरा गांव उमड़ पड़ा।
सूचना पाकर मौके पर पुलिस पहुंच गई और स्थानीय गोताखोरों को लगाया गया। करीब एक घंटे बाद महमूद आलम के पुत्र शाफ अहमद और उसके मौसेरे भाई अयान का शव नदी से बरामद कर लिया गया। अयान अपनी मां के साथ दो दिन पहले मौसी के यहां आया था। दोनों को सीएचसी टिकैतनगर भेजा गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस के अनुसार पांचों डूबने वाले एक ही परिवार के हैं। नदी में लापता तीन अन्य लोगों की तलाश की जा रही है। एसडीआरएफ को सूचना दे दी गई है। डीएम सत्येंद्र कुमार व एसपी दिनेश कुमार सिंह भी मौके पर पहुंचे हैं। 

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?