योगी सरकार का ऐतिहासिक निर्णय, मृतक आश्रित कोटे में अब पुत्रीयों को भी नौकरी



लखनऊ। योगी सरकार का ऐतिहासिक निर्णय अब विवाहित बेटी व परित्यक्ता पुत्री को भी मृतक आश्रित कोटे में नौकरी मिल सकेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतक आश्रित नौकरी की पात्रता श्रेणी में विवाहित पुत्री व परित्यक्ता बेटी को शामिल किए जाने संबंधी प्रस्ताव को मंजूरी दे दी. यह फैसला इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश के बाद लिया गया। गौरतलब है कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद योगी सरकार ने मृतक सरकारी कर्मचारी की पत्नी या पति, पुत्र/दत्तक पुत्र, अविवाहित पुत्रियां, अविवाहित दत्तक पुत्रियां, विधवा पुत्रियों और विधवा पुत्र वधुओं के साथ विवाहित पुत्रियों और परित्यक्ता पुत्रियों को भी शामिल कर लिया है। दरअसल, मृतक आश्रित कोटे के तहत नौकरी को लेकर कई मामले हाईकोर्ट पहुंचे थे. इसमें कुटुंब की परिभाषा में विवाहित पुत्री और परित्यक्ता पुत्रियों को भी शामिल करने की मांग की गई थी. जिसके बाद हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को मृतक आश्रित भर्ती नियमावली में संशोधन करने का आदेश दिया था. हाईकोर्ट के इस आदेश के बाद सरकार ने यूपी सेवा काल में मृत सरकारी सेवक के आश्रितों की भर्ती नियमावली 1974 के नियम 2 (ग) (तीन) में संशोधन किया है. अब इस संशोधन के बाद विवाहित बेटियां और परित्यक्ता पुत्री मृतक आश्रित कोटे के तहत नौकरी पाने की हकदार होंगी।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद