पहलवान सागर हत्या काण्डः खुली सुशील कुमार के झूठ की पोल,पुलिस ने जारी कर दिया पीटने वाला वीडियो



पहलवान सागर धनखड़ की हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच लगातार ओलंपियन सुशील कुमार और उनके साथी अजय बक्करवाला से पूछताछ कर रही है और उनके बयानों को क्रॉस चेक कर रही है। पूछताछ के दौरान सुशील बार बार यही कह रहे हैं कि उन्होंने किसी इरादे से अपने जूनियर सागर धनखड़ की जान नहीं ली है। वो केवल सागर और उसके साथियों को डराना चाहते थे। हालांकि इस बीच मामले में गिरफ्तार पहलवान सुशील कुमार का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें उन्हें हॉकी से सागर धनखड़, सोनू महाल और उनके साथियों को डंडे से पीटते हुए साफ साफ देखा जा सकता है। यह वीडियो वारदात के दिन का है, जो घटना के समय मोबाइल से रिकॉर्ड किया गया था। पूरा वीडियो पुलिस के पास बतौर सबूत मौजूद है। 
मिली जानकारी के मुताबिक, पुलिस यह वीडियो सुशील पहलवान के करीबी प्रिंस के मोबाइल से बरामद किया है, जो कि वारदात वाली रात मौके पर मौजूद था। उस पर भी कई मुकदमे दर्ज हैं। भले ही सुशील पहलवान सागर को इरादतन न मारने की बात कर रहे हों, लेकिन जब उन्हें अधिकारियों ने पूछताछ के दौरान यह वीडियो दिखाया तो उन्होंने चुप्पी साध ली। यह वीडियो खुद उन्होंने शूट करवाया था। 
इस वीडियो में सुशील कुमार साफ साफ सागर धनखड़ को हॉकी स्टिक से पीटते नजर आ रहे हैं। फुटेज देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि सागर को किस तरह जानवरों जैसा पीटा गया होगा। वीडियो में दिख रहा है कि सागर जमीन पर लहूलुहान पड़े हैं और हाथ जोड़ते देखे जा सकते हैं, जबकि सुशील वहीं पर स्टिक लेकर खड़े हैं। इसके अलावा एक अन्य शख्स को भी सुशील के साथी मारते नजर आ रहे हैं। 
वीडियो में मौके पर कई सफेद कलर की कारें भी खड़ी नजर आ रही हैं। पुलिस का कहना है कि यह गाड़ियां नीरज बवानिया और काला गैंग के बदमाशों की हैं। FSL रोहणी में हुई फॉरेंसिक जांच में इस वीडियो को असली करार दिया गया है। फिलहाल इस मामले में पुलिस ने सुशील और उनके साथ अजय बक्करवाला समेत कुल 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें गैंगस्टर काला असौधा और नीरज बवानिया के चार बदमाश भी शामिल हैं। 
बता दें कि 4 मई की रात छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर धनखड़ की मौत हुई थी, वो कोई आवेश में आकर की हुई लड़ाई नहीं थी, बल्कि बदले की भावना से हुई थी। वारदात वाले दिन कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी के भांजे सोनू, रविंद्र और अन्य का दिल्ली मॉडल टाउन वाले फ्लैट को लेकर सुशील से झगड़ा हो गया था। यहां तक कि उन लोगों ने सुशील पर हावी होकर उसकी शर्ट का कॉलर पकड़ लिया था।  धमकी देते हुए दौड़ा भी दिया था। 
जिसके बाद सुशील ने अपने साथ हुई बेइज्जती का बदला लेने की ठानी और फिर कुख्यात नीरज बवाना व असौदा गिरोह के बदमाशों को बुला लिया। कुछ घंटे के अंदर बदमाश आए और उसी रात सोनू समेत अन्य को जानवरों की तरह मारा गया। इस घटना में पहलवान सागर धनखड़ के सिर पर गंभीर चोटें आईं, जिसके चलते उनकी मौत हो गई। 




टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर