पत्नी की तेरहवीं नहीं बीती कि पति उमा शंकर यादव भी गोलोक वासी हो गये,परिवार पहुंच गया कोमा में



जौनपुर। कोरोना संक्रमण काल में स्वास्थ्य विभाग की असफलताओं के बीच ऐसी ऐसी घटनायें सामने आ रही है कि सुन कर कलेजा कांप उठता है। ताजा घटना यह है कि पत्नी का त्रयोदशा कार्यक्रम नहीं बीता कि पति को भी इस महामारी ने अपने आगोश मे समेट लिया है। इस दुःखद घटना से पूरा परिवार कोमा में चला गया है अब ईश्वर ही इस परिवार की रक्षा करे।
जी हां शहर से लगभग 08 किमी दूर स्थित ग्रामीण क्षेत्र के ग्राम परशुरामपुर के मूल निवासी एवं जौनपुर जिला अस्पताल में कार्यरत वरिष्ठ फार्मासिस्ट गुलाब चन्द यादव की माता यानी उर्मिला देवी पत्नी उमा शंकर यादव जिला सचिव सपा का निधन बीते 26 अप्रैल को संक्रमण के चलते हो गया। पत्नी के निधन के बाद पति उमा शंकर यादव यानी गुलाब चन्द यादव के पिता की तबियत तीन दिन बाद खराब हो गयी तो परिवार के लोग उनकी जान बचाने के लिए प्राइवेट अस्पताल में उपचार के लिए ले गये। जहां पर बीती 01 मई की रात लगभग 11बजे चिकित्सकीय लापरवाहीयों के चलते उमा शंकर यादव की भी सांसे थम गयी। सात जन्मों तक का साथ निभाने का वादा करने वाले उमा शंकर यादव भी गोलोकवासी हो गये। 
यहां बतादे कि उमा शंकर यादव एक शिक्षक के रूप में अपना जीवन सेवा काल तक इमानदारी के साथ करने के पश्चात सेवा निवृत्त होने के पश्चात शिक्षा जगत के लिए बड़ा काम करते हुए शिक्षा मन्दिर की स्थापना कर दिया है जहां आज बड़ी संख्या में बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। साथ ही समाज सेवा के लिए सपा की राजनीति करने लगे और वर्तमान में सपा के जिला सचिव रहे है।   इस तरह उमा शंकर यादव के निधन से शिक्षा जगत से समाज को बड़ी एवं अपूर्णीय क्षति हुई है।   

Comments

Popular posts from this blog

सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष ने खुद को गोली मार कर की आत्महत्या, घर में मच गया कोहराम कार्यकर्ता हैरान

जानिए जौनपुर की दोनो लोकसभा क्षेत्र से भाजपा का सूपड़ा साफ होने के लिए जिम्मेदार कौन थे

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम