एक तरफ देश स्वतंत्रता का जश्‍न मना रहा तो दूसरी ओर चौथे स्तंभ के सिपाही के हत्या का प्रयास



खबर को यदि सच्चाई से प्रकाशित कर दें तो उसे कई तरह से धमकियां दी जाती है। यदि धमकी से बच जाए तो उसे जान से मारने के लिए गाड़ी चढ़ा दी जाती है। आज स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सूबे के चित्रकूट जनपद में एक वरिष्ठ पत्रकार को एक दबंग भाजपा नेता ने अपनी जीप के नीचे कुचल कर जान से मारने की कोशिश की। इस हादसे में उक्त पत्रकार को गम्भीर चोटें आईं हैं। घायल पत्रकार को इलाज के लिये चित्रकूट के जिला अस्पताल से प्रयागराज के लिये रैफर कर दिया है। इस सनसनीखेज घटना के बारे में बताया गया है कि सूबे के चित्रकूट में सत्ताधारी पार्टी के दबंग नेता ठेकेदार ने जनपद के वरिष्ठ पत्रकार संजय राणा को जान से मारने की नीयत से उनके ऊपर अपनी कार चढ़ा दी। जिससे संजय राणा गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें सीएससी अस्पताल से तत्काल इलाहाबाद मेडिकल कालेज रेफर किया गया है। उनकी हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है। जीप सत्तादल से जुड़े किसी दबंग ठेकेदार की है बताया गया है कि एक जीप जो सत्तादल से जुड़े किसी दबंग ठेकेदार की बताई गई है। लेकिन घटना के समय सिर्फ चालक बैठा था। वरिष्ठ पत्रकार राणा कहीं से आ रहे थे। तभी उस जीप को उनके ऊपर चढ़ा कर जान से मारने की कोशिश की गई। संयोग ऐसा हुआ कि इस हादसे में जीप,राणा के पैर को ही कुचल पायी और चालक मौके से फरार हो गया। 
इस जानलेवा हमले में संजय राणा की पैर की हड्डी बुरी तरह क्षतिग्रस्त संजय राणा के पैर की हड्डी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है। इस घटना के बाद अन्य लोगों ने उन्हें स्थानीय सरकारी अस्पताल में इलाज के लिये भर्ती कराया जहां से उन्हें आनन फानन में चित्रकूट से उन्हें प्रयागराज रेफर कर दिया गया। जहां उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है। बहरहाल अभी तक प्रशासन की ओर से कोई सार्थक कार्यवाही नहीं किए जाने की सूचना है। चित्रकूट के अन्य पत्रकारों ने बताया कि संजय राणा सदैव बिना किसी पूर्वाग्रह के सामाजिक सरोकार से जुड़ी ख़बरें ही प्रकाशित करते हैं। और गाहे बेगाहे मिलने वालीं धमकियों से भी डरा नहीं करते थे। 
संजय राणा ने कभी अपनी कलम को झुकने नहीं दिया चाहे सरकारी अधिकारियों की गलत गतिविधियां हों या राजनेताओं की। उन्होंने कभी कलम को झुकने नहीं दिया। आज उसी का नतीजा है कि इन पर जानलेवा हमला किया गया। सूत्र बताते हैं कि जिला प्रशासन सत्तादल से जुड़े इस सफेदपोश के प्रभाव में हैं। और मामले को दबाने में लगा है। इस घटना से चित्रकूट समेत सूबे के अन्य जनपदों के पत्रकारों ने गहरा रोष व्याप्त है। पत्रकारों ने सूबे के सीएम से मांग की है कि पत्रकार पर जानलेवा हमला करवाने वाले दबंग सफेदपोश की शीघ्र गिरफ्तारी की जाए।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

चाचा भतीजी में हुआ प्यार, फिर फरार, पकड़े जाने पर हुई दैहिक समीक्षा, अब शादी की तैयारी

58 हजार ग्राम प्रधानो को लेकर योगी सरकार ने लिया अब यह फैसला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम