जौनपुर: थाना में घुटने तक पानी जमा होने के बाद नहीं बदला ध्वजारोहण का स्थान,पानी में खड़ा हो कर मनाया आजादी का जश्‍न


जौनपुर। देश आज आजादी का 75वां वर्ष शुरू होने के साथ ही जश्न में डूबा हुआ है और देश भर में आजादी का उल्‍लास छाया हुआ है। पूर्वांचल में भी आजादी के महाउत्‍सव का उल्‍लास लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। आजादी के पर्व को शानदार तरीके से सेलिब्रेट करने का मौका कोई नहीं छोड़ना चाहता। सभी सरकारी कार्यालयों में आजादी के महापर्व का आयोजन शानदार तरीके से कोविड 19 की गाइडलाइन के साथ किया जा रहा है। इसी कड़ी में जनपद जौनपुर के रामपुर थाना परिसर में एक तस्‍वीर आपको गर्व की अनुभूति से भरने के साथ ही पुलिस विभाग पर सवाल भी खड़ा कर रही है। जी हां रामपुर थाना परिसर में घुटनों के करीब पानी भरा होने की वजह से परंपरागत झंडारोहण स्‍थल नहीं बदला गया। पानी में घुसकर पुलिस महकमे ने पूर्व की परंपराओं का निर्वहन किया गया।  
विगत कई दिनों से हो रही जबरदस्त वर्षात के चलते रामपुर थाना परिसर में भी बारिश का पानी काफी भरा है इसके बाद भी ध्वजारोहण पानी के बीच में ही करके परंपराओं का निर्वहन किया गया। बारिश के पानी मे खड़े होकर पुलिस के जवानों ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और सलामी देने के साथ ही तिरंगे का मान और अभिमान को बारिश और पानी के बीच कम नहीं होने दिया।परिसर में घुटनों तक भरे पानी में दर्जन भर से अधिक पुलिसकर्मी कपड़ों के भीगने की परवाह न करते हुए पूरे झंडारोहण की परंपराओं को निर्वहन करते नजर आए। तिरंगा फहराने के साथ बीतते हर घड़ी हर क्षण गर्व की अनुभूति से सभी पुलिस कर्मियों का सीना भी चौड़ा नजर आया।
इस बाबत जिले के आला पुलिस अधिकारियों ने कहा कि बीते कई दिनों से भारी बारिश की वजह से कई जगहों पर पानी का व्‍यापक स्‍तर पर जमाव हुआ। इस दौरान रामपुर थाना परिसर में भी बारिश का पानी घुटनों तक जमा रहा। आसपास भी पानी के निकलने का स्‍थान न होने की वजह से परिसर में पूरे रुतबे के साथ पूर्व के नियत स्‍थान पर ही झंडारोहण का फैसला लिया गया और इसे पूरी तरह निर्वहन करने में थाने से संबद्ध सभी पुलिसकर्मियों ने पूरे जज्‍बे के साथ निभाया। इस दौरान कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए सभी पुलिस कर्मियों ने मास्‍क को अनिवार्य तौर पर पहन रखा था। देखते ही देखते यह तस्‍वीर वायरल हो गई और जौनपुर जिला आजादी के जश्‍न के साथ इस तस्‍वीर के पीछे की छिपे खूबसूरत जज्‍बे को भी सलाम कर उठा।
रविवार सुबह एसएचओ विजय शंकर सिंह ने पुलिसकर्मियों के साथ फर्क के साथ तिरंगा फहराया। इस जोश के बीच पानी भरे होने की यह अव्यवस्था मानो नजर ही नहीं आई। फिलहाल थाने को कस्बे में ही एक किराए के कमरे में चलाया जा रहा है। थाने में भरे पानी को लेकर पुलिसकर्मियों ने निजी स्तर पर कोशिश तो किया, लेकिन फिलहाल दिक्कत अभी दूर नहीं हो सकी है। तकरीबन हर साल बारिश के दौरान इस थाने में पानी भर जाता है, जिसका कोई स्थायी समाधान नहीं हो सका है। थाना परिसर में कई दिनों से भरे पानी की वजह से कुछ काम प्रभावित होता है लेकिन आजादी का जश्‍न प्रभावित नहीं होने देना है इस भावना के साथ सभी पुलिसकर्मी पानी के बीच भी परिसर में जुटे और आयोजन को यादगार बनाया। एचएचओ ने कहा कि पूर्व में हुई तेज बारिश के दौरान पानी भर गया था, परिसर नीचा होने की वजह से इस परेशानी का स्थायी समाधान नहीं हो पा रहा है।

टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

चाचा भतीजी में हुआ प्यार, फिर फरार, पकड़े जाने पर हुई दैहिक समीक्षा, अब शादी की तैयारी

58 हजार ग्राम प्रधानो को लेकर योगी सरकार ने लिया अब यह फैसला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम