क्राइम ब्रांच का निरीक्षक बनकर पहले ठगा साढ़े दस लाख रुपए अब फर्जी मुकदमें में फंसाने की धमकी


बेरोजगारी की मार झेल रहे युवा नौकरी पाने के चक्कर में जालसाजों के चंगुल में फंसते जा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला शनिवार को रामनगर थाना पहुंचा। खुद को क्राइम ब्रांच का निरीक्षक बताकर चंदौली के शिकारगंज निवासी एक व्यक्ति ने नगर के रामपुर निवासी बेरोजगार अनिल कुमार को अपना शिकार बनाया। रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर उसने 10.50 लाख रुपये ऐंठ लिए। काफी समय बाद जब नौकरी नहीं मिली तो युवक ने रुपये वापस मांगे। इस पर उसे गलत तरीके से फंसाने की धमकी दी जाने लगी। भुक्तभोगी ने पुलिस को मामले में तहरीर दी है। थाना प्रभारी निरीक्षक वेद प्रकाश राय ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक धनंजय से अनिल का परिचय शिकारगंज निवासी आनंद कुमार के माध्यम से हुआ। शिकारगंज निवासी आनंद कुमार से अनिल का परिचय वार्ड निवासी मित्र विजय ने कराया था। आनंद ने अनिल की नौकरी लगवाने के लिए अपनी बहन अनीता व बिहार निवासी उसके पति धनंजय से मुलाकात करायी। धनंजय ने अपने आप को चंदौली पुलिस में क्राइम ब्रांच का निरीक्षक बताकर अनिल की नौकरी रेलवे में लगाने की बात कही थी। उसने अनिल से नौकरी लगवाने के नाम पर कई किस्तों में 10.50 लाख रुपये ले लिए। अनिल ने बताया कि रुपये मांगने पर जहां धनंजय जान से मारने की बात कहता है, वहीं उसकी पत्नी अनिता झूठे केस में फंसाने की धमकी देती है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात

सीएम योगी के एक ट्वीट से लखनऊ का नाम बदलने की सुगबुगाहट, जानें क्या हो सकता है नया नाम