पुरानी पेंशन सहित 21सूत्रीय मांगों को लेकर 30 नवंबर को होगी लखनऊ में महारैली शिक्षकों की बनी रणनीति



जौनपुर । उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की एक बैठक जिला अध्यक्ष अरविंद शुक्ला की अध्यक्षता में संपन्न हुई । बैठक में पुरानी पेंशन बहाली सहित 21 सूत्रीय मांगों को लेकर शिक्षक एवं कर्मचारियों के आक्रोश को देखते हुए 30 नवंबर को इको गार्डन लखनऊ में कर्मचारी शिक्षक अधिकारी एवं पेंशनर्स अधिकार मंच के बैनर तले शिक्षक एवं कर्मचारियो की महारैली को सफल बनाने हेतु चर्चा की गई ।
बैठक को संबोधित करते हुए जिला अध्यक्ष अरविंद शुक्ला ने कहा कि एक दिन का शपथ लेकर काम करने वाले विधायक एवं सांसद पुरानी पेंशन के हकदार बन जाते हैं परंतु 60 और 62 वर्ष तक की आयु तक काम करने वाले शिक्षक एवं कर्मचारियों के बुढ़ापे की लाठी पुरानी पेंशन उनसे छीन ली गई और उसके बहाली के प्रति सरकार उदासीन रवैया अपनाए हुए हैं ।बैठक में कहा गया कि के 18 महीने का महंगाई भत्ता सरकार द्वारा नहीं दिया गया और  परिषदीय विद्यालयों के 127000 प्रधानाध्यापकों के पद समाप्त कर दिए गए तथा बिना लैपटॉप तथा टेबलेट दिए शिक्षकों को ऑनलाइन कार्यो के लिए मजबूर किया गया । हर प्रकार से शिक्षकों का शोषण किया गया और शासनादेशों का धड़ल्ले से मजाक बनाया गया। परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत शिक्षामित्र एवं अनुदेशकों का नियमितीकरण आज तक किया नहीं किया गया और आंगनबाड़ी तथा रसोइयों को न्यूनतम मजदूरी के बराबर भी वेतन नहीं दिया जा रहा है ।
जिला मंत्री रविचंद्र यादव ने कहा कि शिक्षकों की समस्याओं का समाधान करना संगठन का मूल उद्देश्य है इसके लिए हम सब हर स्तर पर प्रयत्नशील रहेंगे । जिला कोषाध्यक्ष रामदुलार यादव ने कहा कि शिक्षक 30 नवंबर को आर पार की लड़ाई लड़ने के लिए तैयार रहें तथा 30 नवंबर को लखनऊ में आर-पार का संघर्ष किया जाएगा । बैठक में लाल साहब यादव ,लक्ष्मीकांत सिंह, अनिल दीप चौधरी, सुनील यादव, शैलेंद्र सिंह, संतोष सिंह ,विष्णु तिवारी ,विक्रम प्रकाश, मनोज यादव ,श्यामलाल मौर्य, राकेश पांडे ,मनोज उपाध्याय ,विष्णु पंडित, दीपक सिंह, धीरेंद्र पाल, अखिलेश सरोज ,सूर्य प्रकाश पांडे, अजय यादव सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ड्रेस के लिए बच्चे को पीटने वाला प्रिन्सिपल अब पहुंचा सलाखों के पीछे

14 और 15 दिसम्बर 21को जौनपुर रहेंगे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव,जानें क्या है कार्यक्रम

ओमिक्रॉन से बढ़ी दहशत,पूर्वांचल के जनपदो में भी मिलने लगे संक्रमित मरीज,प्रशासनिक तैयारी तेजम