आखिर ट्रेन महंगांवा स्टेशन के आउटर पर पांच घन्टे क्यों रोकी गई,यात्री परेशानी का जवाब किसके पास


जौनपुर। वाराणसी-फैजाबाद रेल प्रखंड पर महंगावां स्टेशन के आउटर पर मंगलवार की भोर में करीब सवा चार बजे छपरा एक्सप्रेस करीब पांच घंटे तक रुकी रही। पांच घंटे बाद भी जब ट्रेन को रवाना नहीं किया गया तो एसएससी जीडी की परीक्षा देने जा रहे कई परीक्षार्थियों की परीक्षा छूट गई। जिससे नाराज अभ्यर्थियों ने ट्रैक पर ही विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। जीआरपी ने उन्हें समझाया तो अभ्यर्थी स्टेशन पर पहुंचकर हंगामा करने लगे। उधर, ट्रेन में सवार एक मरीज की हालत बिगड़ने पर वहीं से एंबुलेंस बुलाया गया और पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया।
लखनऊ से चलकर छपरा जाने वाली छपरा एक्सप्रेस ट्रेन संख्या 15054 अपने निर्धारित समय से चल रही थी। ट्रेन 4:15 के आसपास मिहरावां रेलवे स्टेशन को पार कर महंगांवा  स्टेशन के आउटर पर आकर खड़ी हुई, लेकिन उसके बाद ट्रेन करीब पांच घंटे तक खड़ी होने के कारण कई परीक्षार्थियों की परीक्षा छूट गई।
वाराणसी जा रहे मरीज की तबीयत और बिगड़ जाने के कारण उसके मुंह से खून गिरने लगा जिससे यात्रियों ने इसकी शिकायत गार्ड से की। गार्ड के निवेदन के बाद नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से एंबुलेंस मंगाकर यात्री को बेहतर इलाज के लिए भेज दिया गया। ट्रेन के अधिक लेट होने पर परीक्षा देने जा रहे परीक्षार्थियों ने ट्रैक पर आकर हंगामा शुरू कर दिया। यात्रियों को समझाकर आरपीएफ व ट्रेन पायलट ने ट्रेन में बैठने के साथ-साथ ट्रेन को आगे लेकर स्टेशन पर पहुंचे जहां ट्रेन को दोबारा रोका गया। जिससे यात्रियों ने स्टेशन अधीक्षक के कमरे में पहुंचकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। मौके पर पहुंची आरपीएफ ने लोगों को समझा-बुझाकर पौने दस बजे ट्रेन को रवाना कराया।

Comments

Popular posts from this blog

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

सड़क चौड़ीकरण के लिए जानिए कौन कौन से मन्दिर टूटने के कगार पर ,क्या है लोक निर्माण विभाग की योजना

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा