विवाद सुलझाने गयी पुलिस पर हमला, चले ईंट पत्थर, एक दर्जन से अधिक पहुंचे जेल


जौनपुर। जिले के थाना बक्शा क्षेत्र स्थित कर्तिहा गांव में रविवार को एक जमीन को लेकर दो गुटों में विवाद हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस पर एक गुट ने ईंट पत्थर से हमला कर दिया। पुलिसकर्मियों ने भाग कर जान बचाई और थाने को सूचना दी। बक्शा थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और हालात को काबू में किया। पुलिस ने 12 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया है। इनमें महिलाएं भी शामिल हैं। हमले में दो सिपाहियों को हल्की चोटें आईं हैं। आरोप है कि बक्शा थाने की पुलिस ने गांव पहुंचकर महिलाओं व पुरुषों की पिटाई भी की है।
मिली खबर के अनुसार बक्शा थाना क्षेत्र के कर्तिहा गांव निवासी सुन्नी समुदाय के अब्दुल खालिक ने रविवार सुबह थाने में तहरीर दी। आरोप लगाया कि विपक्षी शिया समुदाय के नसीन, उरफी, सैफ, अमन और कसीम इमामबाड़ा बनवा रहे हैं। इसका दरवाजा मेरे पुस्तैनी जमीन की तरफ लगवा रहे हैं। मना करने पर विपक्षी विवाद कर रहे हैं। थाने से सिपाही चंदन यादव और राजू मौके पर पहुंचे।
दोनों पक्षों को समझा बुझाकर निर्माण रोककर थाने चलने की बात कही। इस पर निर्माण करने वाला पक्ष आक्रोशित हो गया। दोनों सिपाहियों पर ईंट पत्थर से हमला बोल दिया। घटनास्थल से भागकर सिपाहियों ने जान बचाई और थाने में सूचना दी। थोड़ी ही देर में थानाध्यक्ष बड़ी संख्या में पुलिस टीम को लेकर मौके पर पहुंच गए।
उन्होंने करीब दर्जन भर महिला व पुरुष को हिरासत में लेकर थाने पहुंचे। दूसरी तरफ हिरासत में लिए गए लोगों के परिजनों ने पुलिसकर्मियों पर हमले से इंकार किया। दो युवकों को पकड़ने के चक्कर में सिपाही गिर गए और उन्हें चोटें आईं। घटना इलाके में कानून व्यवस्था को चुनौती मानी जा रही है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?