यूपी माध्यमिक शिक्षक संघ (नवीन) के पदाधिकारीओ ने मूल्यांकन केंद्र की व्यवस्थाओ का देखा सच


जौनपुर। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ (नवीन) के प्रांतीय अध्यक्ष धर्मेंद्र यादव ने जनपद इकाई के पदाधिकारियों के साथ मूल्यांकन के लिए बनाए गए मूल्यांकन केंद्र जनक कुमारी इंटर कॉलेज हुसैनाबाद, तिलकधारी इंटर कॉलेज, नगर पालिका इंटर कॉलेज, राजा डीएमसीए इंटर कॉलेज, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज, मोहम्मद हसन इंटर कॉलेज में मूल्यांकन कर रहे परीक्षकों से मुलाकात कर उनकी सुरक्षा एवं सुविधाओं की जानकारी ली। कुछ मूल्यांकन केंद्रों (नगर पालिका इंटर कॉलेज) पर परीक्षकों की संख्या  अधिक और कमरे छोटे छोटे होने के कारण बैठने में असुविधा,स्वच्छ हवा तथा वाहनों के लिए पार्किंग की समस्या रही।

प्रान्तीय अध्यक्ष से अधिकतर परीक्षकों ने पूर्व में किये गए मूल्यांकन का पारिश्रमिक नहीं मिलने की शिकायत की।परीक्षकों को आश्वस्त करते हुए प्रदेश अध्यक्ष धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि पारिश्रमिक डीआईओएस कार्यालय से भेजा जा चुका है। कुछ शेष परीक्षकों का भेजने की सूची तैयार कर ली गई है, 2022 की कुछ ग्रांट कम है मंगाकर शीघ्र उनके खाते में भेज दिया जाएगा। जिलाध्यक्ष राजकेशर यादव ने कहा कि बी आर पी इंटर कालेज और राजा श्रीकृष्णदत्त इंटर कालेज में मूल्यांकन के लिए पर्याप्त जगह होते हुए भी न बनाया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है इसलिए संगठन जिला विद्यालय निरीक्षक से मांग करता है कि भविष्य में परीक्षकों की सुरक्षा एवं सुविधा का ध्यान में रखते हुए मूल्यांकन केन्द्रों का निर्धारण किया जाय। जिलामंत्री राम सूरत वर्मा ने कहा कि परीक्षकों की सुरक्षा एवं सुविधा के साथ कोई समझौता नहीं किया जायेगा।

मूल्यांकन केंद्रों का दौरा करते प्रान्तीय अध्यक्ष के साथ जिला संरक्षक डा सुनील कान्त तिवारी,   कार्यकारी जिलाध्यक्ष रीतेश यादव, वरिष्ठ उपाध्यक्ष डा चन्द्रसेन यादव,उपाध्यक्ष हौसिला प्रसाद पाल, कोषाध्यक्ष राम नरायन विन्द, मीडिया प्रभारी राम सेवक कन्नौजिया, संगठन मंत्री डाॅ नगेन्द्र, अनिल कन्नौजिया, विजय प्रकाश गौतम, मनीष तिवारी, संतोष दूबे, सिद्धार्थ यादव,नन्हे लाल,राजेश कुमार, राय साहब जी,विनोद कुमार, सत्य प्रकाश, ओमप्रकाश यादव बाँके लाल प्रजापति, अमित कुमार वीरेन्द्र यादव आदि शिक्षक एवं अन्य पदाधिकारी गण रहे। 

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद