बसपा की श्रीकला सहित पांच लोगो ने किया नामांकन,अशोक सिंह गन्ना किसान बनकर दुबारा किए नामांकन

जौनपुर। लोकसभा चुनाव के छठवें चरण में मतदान के लिए हो रहे नामांकन प्रक्रिया के तीसरे दिन बसपा प्रत्याशी श्रीकला धनंजय सिंह सहित कुल पांच लोगो ने विभिन्न राजनैतिक दलो के बैनर तले लोकसभा क्षेत्र 73 और 74 दोनो क्षेत्रो से नामांकन पत्र दाखिल किया है। नामांकन प्रक्रिया के दौरान कलेक्ट्रेट के आसपास सुरक्षा व्यवस्था का जबरदस्त पहरा लगा हुआ था।
                  श्रीकला धनंजय सिंह 
यहां बता दे बसपा प्रत्याशी श्रीकला ने एलान किया था कि वह अपने पति बाहुबली धनंजय सिंह को जेल से आने पर साथ चलकर 04 मई को नामांकन करेंगी लेकिन आज बुधवार को तीसरे दिन अचानक लाव लश्कर के साथ कलेक्ट्रेट पहुंच गई और एक सेट में अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है। नामांकन के बाद बाहर निकलने पर बताया कि पति धनंजय सिंह ने कहा इसलिए आज ही दाखिल कर दिया उनके आने के बाद फिर सभा आदि करके जलूस के साथ नामांकन दाखिल हो सकता है।
इसी तरह नामांकन प्रक्रिया के दूसरे दिन नामांकन पत्र दाखिल करने वाले समाज विकास क्रान्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक सिंह ने तीसरे दिन भी बैलगाड़ी पर सवार होकर किसान बन कर हाथ में गन्ना लिए जलूस के साथ कलेक्ट्रेट पहुंच गये और तीसरे दिन भी एक सेट में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद अम्बेडकर तिराहा पर पहुंच कर बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद वापस गये।
इसके अलांवा सोशलिस्ट यूनिटी सेन्टर आफ इन्डिया (कम्युनिस्ट) पार्टी से राम प्यारे, और राष्ट्रीय साम्यवादी पार्टी से गोविंद लाल पटेल  ने 73 लोकसभा क्षेत्र से नामांकन पत्र दाखिल किया जबकि 74 लोकसभा क्षेत्र सुरक्षित से केवल श्रवण कुमार ने निर्दल प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र दाखिल किया है।
              अशोक सिंह बैलगाड़ी पर 
यहां बता दे कि बसपा प्रत्याशी श्रीकला धनंजय सिंह रेड्डी के नामांकन के कारण खासी गहमा गहमी कलेक्ट्रेट परिसर के आसपास नजर आयी है तो अशोक सिंह का किसानी का अंदाज भी चर्चा का विषय बना रहा है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?