आज से एक देश एक राशन कार्ड योजना शुरू इसका लाभ मिलेगा प्रवासियों को-डीएसओ



जौनपुर। ‘एक देश एक राशन कार्ड’ योजना आज से यानी 1 जून से 20 राज्यों में लागू हो गई है। इस स्कीम का फायदा उन राशन कार्ड धारकों को मिलेगा जो दूसरे राज्यों में नौकरी करते हैं। राशनकार्ड धारक देश के किसी भी हिस्से की सरकारी राशन दुकान से कम कीमत पर अनाज खरीद सकेंगे।  इस आशय की जानकारी जिला पूर्ति अधिकारी ने एक मुलाकात के दौरान दी है।
इस स्कीम से बाहर से प्रवासी  लोगों को फायदा मिलेगा। जो अन्य राज्यों से प्रदेश अथवा जनपद में आये हुए हैं और वहां का राशन कार्ड बनवा रखें है  

कैसे काम करेगा एक देश एक राशन कार्ड सिस्टम-
देश में योजना को लागू करने के लिए सभी पीडीएस दुकानों पर पीओएस मशीनें लगाई जाएंगी। इस योजना के तहत पीडीएस के लाभार्थियों की पहचान उनके आधार कार्ड पर इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ सेल (PoS) से की जाएगी। जैसे ही राज्य सभी पीडीएस दुकानों पर पीओएस मशीन की रिपोर्ट देंगे, वैसे ही उन्हें ‘एक देश, एक राशन कार्ड’ योजना में शामिल कर लिया जाएगा।

इन दस्तावेजों की जरूरत-
इस स्कीम का लाभ लेने के लिए आपको पहला तो आपका राशन कार्ड और दूसरा आधार कार्ड। असल में इस योजना के तहत अगर आप पोर्टेबिलिटी की सुविधा लेते हैं, यानी किसी दूसरे राज्य में जाकर राशन कार्ड का फायदा उठाना चाहते हैं तो आपका वेरिफिकेशन आधार नंबर के आधार ही किया जाएगा। पीडीएस के हर राशन कार्ड की दुकान पर एक इलेक्ट्रॉनिक्स पॉइंट ऑफ सेल डिवाइस होगा और उसी से लाभार्थी का वेरिफिकेशन उसके आधार नंबर के आधार पर किया जाएगा। इसलिए आपको अपने राशन कार्ड और आधार कार्ड को साथ में रखना जरूरी होगा।

स्कीम का क्या फायदा-
इस स्कीम का ये फायदा होगा कि राशन कार्ड किसी भी राज्य में बना हो, उसका राशन खरीदने के लिए उपयोग दूसरे राज्य में भी हो सकता है। इससे गरीबों को बहुत फायदा होगा। राशन कार्ड धारकों को पांच किलो चावल 3 रुपए किलो की दर से और गेहूं 2 रुपए किलो की दर से मिलेगा। कार्ड दो भाषाओं में – स्थानीय भाषा और हिन्दी या अंग्रेजी में जारी होगा।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद