अधिवक्ता और मजिस्ट्रेट दोनों का मकसद एक है परेशान को मिले न्याय - मनीष कुमार वर्मा डीएम

  
जौनपुर। कलेक्ट्रेट अधिवक्ता संघ द्वारा अधिवक्ता संघ सभागार में जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा को सम्मानित किया गया। कलेक्ट्रेट अधिवक्ता बार के अध्यक्ष हरिश्चन्द्र यादव एवं महामंत्री आनन्द मिश्रा ने स्मृति चिन्ह देकर जिलाधिकारी का स्वागत किया।    
सम्मान समारोह में जिलाधिकारी ने महात्मा गांधी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्वांजलि दिया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कलेक्ट्रेट अधिवक्ता संघ परिसर में आकर गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं। जिलाधिकारी ने कहा कि अधिवक्ता और मजिस्ट्रेट का कार्य एक दूसरे से जुड़ा हुआ होता है, वह एक दूसरे के बिना आगे नहीं बढ़ सकते। दोनों का उद्देश्य होता है कि परेशान व्यक्ति को जल्द से जल्द न्याय दिलाया जाए। उन्होंने कहा कि मजिस्ट्रेट का कर्तव्य होता है कि जो आदेश हो वह नियमांतर्गत हो। इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा भरोसा दिलाया गया है कि मजिस्ट्रेट या जिलाधिकारी के रूप में पूरी ईमानदारी, निष्पक्षता से कार्य करते हुए सभी के साथ न्याय किया जायेगा। उन्होंने अधिवक्ताओं से भी सहयोग मांगते हुए कहा कि जनपद में छोटे-छोटे मामले जो पिछले 05 सालों से लंबित है उन्हें शीर्ष प्राथमिकता पर निस्तारित करें। जिलाधिकारी ने अधिवक्ताओं से सुझाव एवं सहयोग मांगा कि लंबित मामलों को शीघ्र निपटाया जा सके। अधिवक्ता संघ के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा प्रशासन का पूरा सहयोग किया जायेगा।
  इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष जगतनारायण तिवारी, विजय प्रताप सिंह, उदय प्रताप सिंह, व हीरालाल गुप्ता, बृजेश यादव, कपिलदेव सिंह एवं अधिवक्ता बृजमोहन, भोला शुक्ला, संजय निषाद, धीरज पाण्डेय, सुरेन्द्र श्रीवास्तव, सुधाकर प्रजापति, महावीर पाल, राजीव सिन्हा सहित अन्य अधिवक्तागण उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज

यूपी के गांव में जमीनी विवाद खत्म करने के सरकार ने बनायी यह योजना,नहीं होगी मुकदमें की नौबत