यूपी बोर्ड परीक्षा: लटकी हाई स्कूल इन्टर की परीक्षा,जाने अब क्या है बोर्ड की तैयारी



पंचायत चुनाव ने 24 अप्रैल से प्रस्तावित उप्र माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की हाइस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा 2021 के लिए बड़ी मुश्किल खड़ी कर दी हैं। हालांकि बोर्ड ने औपचारिक रूप से परीक्षा कार्यक्रम नहीं बदला है, लेकिन परीक्षा को आठ मई से कराने पर तेजी से मंथन चल रहा है।

माध्यमिक शिक्षा विभाग ने परीक्षा टालने और उन्हें केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के साथ आठ मई से कराने का प्रस्ताव मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास स्वीकृति के लिए भेजा है। उनकी सहमति मिलते ही बोर्ड संशोधित परीक्षा कार्यक्रम जारी कर देगा। बता दें कि बोर्ड परीक्षा पहले 24 अप्रैल से 12 मई तक प्रस्तावित थी। लेकिन पंचायत चुनाव टलने के कारण इसके टलने की स्थिति पैदा हो गई है। बोर्ड की मंशा है कि बोर्ड परीक्षा मई में कराकर जून के अंत तक परिणाम घोषित कर दिया जाएगा, जिससे विद्यार्थियों को परेशानी न हों। हालांकि परीक्षा केंद्र जैसी तैयारियां पहले से पूरी हैं।

अब जब बोर्ड परीक्षा मई के महीने में होती दिख रही है, तो शिक्षक संगठन और प्रधानाचार्य परिषद ने सभी परीक्षा पहली पाली में कराने की मांग उठाना शुरू कर दिया है। उप्र प्रधानाचार्य परिषद के प्रदेश महामंत्री डा. रामलखन यादव ने मुख्यमंत्री को ट्वीट कर यह मांग उठाई है। उनका कहना है कि अप्रैल में परीक्षा शुरू होकर 15 से 17 में संपन्न हो जाती, तो ज्यादा दिक्कत नहीं होती, लेकिन अब मई की भरी गर्मी में परीक्षा होगी और केंद्रों पर सुविधाओं का अभाव है, ऐसे में परीक्षा को सुबह की पाली में कराना विद्यार्थियों के साथ शिक्षकों के लिहाज से बेहतर होगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

विधायक और सपा नेता के बीच मारपीट की घटना का जानें सच है क्या,आखिर जिम्मेदार के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं

स्वागत कार्यक्रम में सपाईयों के बीच मारपीट की घटना से सपा की हो रही किरकिरी

हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज मौलाना फरार