पूर्व सीएम कल्याण सिंह के निधन पर तीन दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित,23 अगस्त को पूरे यूपी में रहेगा सार्वजनिक अवकाश



उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह  का 21 अगस्त को रात में 9.15 बजे निधन हो गया। इस खबर से पूरे देश में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। जानकारी के अनुसार कल्याण सिंह का अंतिम संस्कार 23 अगस्त को गंगा घाट पर होगा। इस दिन पूरे यूपी में सार्वजनिक अवकाश भी रहेगा। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ  ने कल्याण सिंह के निधन पर आधिकारिक जानकारी देते हुए प्रदेश भर में तीन दिन के लिए राजकीय शोक की घोषणा भी की है। 
मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने बताया है कि रविवार की शाम कल्याण सिंह का पार्थिव शरीर अलीगढ ले जाया जाएगा। लोगों के दर्शन के लिए वहां व्यवस्था हो रही है। अगले दिन 23 तारीख को इनका पार्थिव शरीर इनकी जन्मभूमि और कर्मभूमि अतरौली लाया जाएगा। यहां लोगों के दर्शन के बाद नरौरा में गंगा घाट पर अंतिम संस्कार किया जाएगा। 
पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निधन पर यूपी में तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा कर दी है। भाजपा ने अपने दिन के सभी कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया है। दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि देने के लिए आज रविवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा लखनऊ आ रहे हैं।
आपको बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निधन के बाद रातमें ही 11:30 बजे कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई गई। बैठक में शोक प्रस्ताव पारित किया गया। इस राजकीय शोक की अवधि में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा। इसके साथ जानते हैं कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर आज कहां रहेगा कब उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। 
जानकारी के अनुसार रविवार को कल्याण सिंह का पार्थिव देह सुबह 9 बजे से 11 बजे तक विधान भवन में रहेगा। इसके बाद 11 बजे से 1 बजे तक भाजपा प्रदेश मुख्यालय में दर्शनों के लिए रखी जाएगी। यहां श्रद्धांजलि के बाद दोपहर दो बजे शव को अलीगढ़ ले जाया जाएगा। वहां भी देह को जनता के दर्शनों के लिए स्टेडियम में रखा जाएगा। सोमवार यानि 23 को इनकी जन्मभूमि और कर्मभूमि अलीगढ़ के अतरौली में पार्थिव शरीर को जनता के दर्शन के लिए रखा जाएगा। इसके बाद शाम को नरोरा में गंगा किनारे राजकीय सम्मान के साथ इनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। 
आपको बता दें कि इनके अंतिम संस्कार वाले दिन सरकार ने सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की है। इसके साथ ही भाजपा ने अपने सभी कार्यक्रम को तीन दिन के लिए स्थगित कर दिया है। इसके साथ दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि देने के लिए आज रविवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा लखनऊ आ रहे हैं।
यहां बता दे कि कल्याण सिंह का जन्म 06 जनवरी 1932 को हुआ था और निधन 21 अगस्त 21 को रात्रि 9.15 बजे हो गया। अपने राजनैतिक जीवन में 10 बार विधायक और दो बार उत्तर प्रदेश के सफल मुख्यमंत्री पहली बार 24 जून 91 को तो दूसरी बार 21 सितम्बर 97 को मुख्यमंत्री बन कर अपनी प्रशासनिक ऐसी छाप छोड़ा कि आज भी याद किया जाता है। इसके बाद 2014 से 2019 तक राजस्थान एवं 2015 में हिमांचल प्रदेश के राज्यपाल के रूप में अपनी सफल भूमिका को निभाया है। कल्याण सिंह के आदर्शो और मुल्यों को आज भी देश की राजनीति में लोहा माना जाता है ।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात

सीएम योगी के एक ट्वीट से लखनऊ का नाम बदलने की सुगबुगाहट, जानें क्या हो सकता है नया नाम