पुलिस की मौजूदगी में दबंगों ने फूंक दिया दलित का रिहायसी मड़हा, पुलिस जानें क्यों बनी रही मूक दर्शक


पुलिस के समक्ष घटित घटना ने एक बार फिर प्रदेश की कानून व्यवस्था को सवालो के कटघरे में खड़ा किया है। जी हां चंदौली जिले के कंदवा थाना क्षेत्र के बकौड़ी गांव में गुरुवार की रात दो पक्षों में गली को लेकर विवाद हो गया। सूचना पर पहुंची डायल 112 पुलिस टीम अभी दोनों पक्षों को समझा-बुझा रही थी। इसी बीच एक पक्ष पुलिस के सामने ही दूसरे पक्ष के दलित परिवार की मड़ई (झोपड़ी) फूंक कर फरार हो गया। 

पुलिस की मौजूदगी में मड़ई में आगलगी लगने से अफरा-तफरी मच गई। दोनों पक्षों के नौ लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस अगली कार्रवाई में जुटी है। वहीं सीओ सकलडीहा शेषमणि ने पहुंचकर सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया। बकौड़ी गांव निवासी कौशलेश उपाध्याय उर्फ राजू और दशमी राम का घर सटा है। 

दोनों परिवार में गली को लेकर पुराना विवाद चल आ रहा है। दोनों पक्ष गली को अपना बता रहे थे। कुछ दिन पहले ही कंदवा थाने में दोनों पक्ष बीच पंचायत भी हुई थी। इसके बावजूद मामले का निस्तारण नहीं हो सका। दोनों पक्ष गुरुवार की एकबार फिर गली के विवाद को लेकर आमने-सामने आ गए। एक पक्ष ने डायल 112 पुलिस को सूचना दी। पुलिस टीम मौके पर पहुंचकर दोनों पक्ष को समझाने का प्रयास कर रही थी। इसी बीच पुलिस के सामने ही दशमी राम के मड़ई में दूसरे पक्ष ने आग लगा दी। इसकी जानकारी होते ही थाने की पुलिस फोर्स पहुंच गई। सीओ शेषमणि भी पहुंचकर मामले की जानकारी में जुट गए। घटना को लेकर गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?