पत्नी को प्रेमी संग फरार होने पर पति ने किया आत्महत्या,बच्चे हुए अनाथ जानें पूरी क्या है घटना



चार बच्चों और पति को छोड़कर प्रेमी के साथ भाग जाने पर पति ने आत्महत्या कर ली। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि परिजनों की तहरीर व पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। 
बता दें कि बदायूं जिले में बीती देर रात एक पति ने पत्नी के वियोग में या यूं कहे बदनामी के डर से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मामला जिले के उघैती थाना क्षेत्र के मेवली गांव का है। यहां के रहने वाले प्रेमपाल की पत्नी का एक व्यक्ति के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। गांव वालों और परिजनों के मुताबिक करीब 17 दिन पहले गांव मचलई के रहने वाले दूसरे समुदाय के व्यक्ति के साथ पत्नी फरार हो गई थी। प्रेमपाल किसी तरह अपनी पत्नी को मना कर वापस ले आया था। लेकिन उसकी पत्नी गुरुवार को सुबह फिर से उसी व्यक्ति के साथ चली गई। जिसके चलते प्रेमपाल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 
प्रेमपाल को आत्महत्या करने से परिवार में कोहराम मच गया। वहीं मौके पर पहुंचे सीओ बिल्सी अनिरुद्ध सिंह व उघैती थाना पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज कर मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि परिजनों की तहरीर व पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। 
बता दें कि मृतक प्रेमपाल की पत्नी अपने चार बच्चों को छोड़कर दूसरे समुदाय के व्यक्ति के साथ चली गई। घर वालों ने बताया कि प्रेमपाल के पास एक बेटी और तीन बेटे हैं। मृतक प्रेमपाल के घर वालों ने यह भी बताया कि उसकी पत्नी 17 दिन पहले भी दूसरे गांव के व्यक्ति के घर चली गई थी। तब प्रेमपाल उसे किसी तरह मना कर घर ले आया था। लेकिन गुरुवार सुबह को प्रेमपाल की पत्नी दोबारा से चली गई। प्रेमपाल ने बदनामी के चलते और पत्नी वियोग में अपनी जीवन लीला ही समाप्त कर ली। प्रेमपाल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। अब बच्चे पूरी तरह से अनाथ हो गये है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज

यूपी के गांव में जमीनी विवाद खत्म करने के सरकार ने बनायी यह योजना,नहीं होगी मुकदमें की नौबत