वाराणसी से मछलीशहर तक एनएच-731बी बनाने की योजना, जाने क्या है तैयारी


जौनपुर। पूर्वी भारत के गेटवे के रूप में विकसित हो रहे वाराणसी को पूर्वांचल और बिहार से बेहतर कनेक्टविटी के लिए दो राष्ट्रीय राजमार्गो जोड़ने की योजना है । इसमें मछली शहर से रिंग रोड को बेहतर कनेक्टविटी दी जाएगी। इसके साथ ही बिहार बॉर्डर से धरौली, चंदौली मार्ग को भी दुरूस्त किया जाएगा।
वाराणसी से मछलीशहर तक प्रस्तावित नए नेशनल हाईवे एनएच-731 बी में जंघई और भदोही में दो बाईपास का निर्माण कराने की योजना है। इसके अलावा भवन, पेड़ आदि को चिन्हित किया गया है। यह राष्ट्रीय राजमार्ग वाराणसी चांदपुर चौराहे से भदोही, दुर्गागंज, जंघई होते हुए मछलीशहर में हाईवे में जोड़ा जाएगा। वाराणसी के जीटी रोड से मिलने वाली इस सड़क के बनने से भदोही और जौनपुर पहुंचना आसान हो जाएगा। 
कमिश्नर दीपक अग्रवाल की अध्यक्षता में आयुक्त सभागार में दोनों राष्ट्रीय राजमार्गों के प्रस्तावित डीपीआर का पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन दिखाया गया। प्रारंभिक आंकलन में मछली शहर से वाराणसी रिंग रोड तक के मार्ग का अनुमानित लागत एक हजार करोड़ रुपए है। बिहार बॉर्डर से धरौली चंदौली मार्ग की अनुमानित लागत 150 करोड़ है।  करें।
बैठक में मछली शहर, भदोही में घनी आबादी के दृष्टिगत बाईपास का प्रावधान किया गया है। बैठक में उपस्थित भदोही सांसद डॉ रमेश चंद बिन्द ने दुर्गागंज में भी बाईपास का प्रावधान करने का सुझाव दिया। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने सुझाव दिया कि अपडेटेड राष्ट्रीय राजमार्ग को आगामी 30-40 वर्षों की ट्रैफिक अनुमान को लेकर डीपीआर तैयार है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

सीएम योगी का चुनावी वादा बिजली बिल बकाये को लेकर दिया यह आदेश

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज