कांशीराम की पूण्यतिथि पर बसपा का होगा शंखनाद, जानें क्या निर्णय पार्टी की योजना


बसपा संस्थापक कांशीराम की पुण्यतिथि पर बसपा प्रमुख मायावती शनिवार को चुनावी शंखनाद करेंगी। लखनऊ में होने वाली श्रद्धांजलि सभा में प्रदेश भर से कार्यकर्ता बुलाए गए हैं। इसे रैली का रूप दिया गया है। इसके बहाने बसपा जहां शक्ति प्रदर्शन करेगी, वहीं आगे के कार्यक्रमों की घोषणा भी करेगी।
बीते सितंबर को पार्टी कार्यालय में हुए ब्राह्मण सम्मेलन में मायावती ने कार्यकर्ताओं से चुनावी तैयारियों में जुटने का आह्वान किया था, लेकिन यह सिर्फ एक वर्ग का सम्मेलन था। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बसपा की ओर से शनिवार को कांशीराम स्मारक स्थल पर होने वाली यह पहली बड़ी रैली होगी जिसमें समाज के हर वर्ग से जुड़े कार्यकर्ता शामिल होंगे।
सभी जिलों से दो-दो बसों में कार्यकर्ताओं को लाने को कहा गया है। लखनऊ के आसपास के जिलों में बसों की संख्या को बढ़ाने केलिए कहा गया है। पार्टी महासचिव सतीश मिश्रा शुक्रवार देर रात तक तैयारियों पर नजर रखे हुए थे। उन्होंने बताया कि कांशीराम पुण्यतिथि पर इस बार मंडल स्तर पर कोई कार्यक्रम नहीं होगा। सिर्फ लखनऊ में सभा रखी गई है।
हरसिमरत कौर भी आ सकती हैं
पंजाब की अकाली नेता हरसिमरत कौर बादल भी इस रैली में मायावती के साथ मंच साझा कर सकती हैं। पंजाब में शिरोमणि अकाली दल के साथ बसपा का गठबंधन हो चुका है। उधर हरसिमरत शुक्रवार को लखीमपुर खीरी के तिकुनिया प्रकरण में पीड़ितों से जाकर मिली थीं और शाम को लखनऊ में ही थीं। माना जा रहा है कि उन्हें भी मंच पर लाकर जहां बसपा पंजाब का गणित समझाएगी, वहीं इस प्रकरण में प्रदेश सरकार को घेरने की भी कोशिश की जाएगी। 
कांशीराम पुण्यतिथि पर बसपा के नेशनल को-ऑर्डिनेटर आकाश आनंद एवं रामजी गौतम तथा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आनंद कुमार हरियाणा में रहेंगे। चूंकि बसपा पंजाब और हरियाणा को भी गंभीरता से लेकर चल रही है। इसलिए इन तीनों को इस दिन हरियाणा में रहने को कहा गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

सीएम योगी का चुनावी वादा बिजली बिल बकाये को लेकर दिया यह आदेश

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज