मदद के बहाने महिला की आबरू के प्यासे आशिक मिजाज दरोगा पर मुकदमा दर्ज

जब रक्षक शोषक बन जाये तो अबला के आबरू की रक्षा कैसे हो सकेगी यह एक यक्ष सवाल वर्तमान सरकार और व्यवस्था से है। 
जी हां ऐसा ही एक मामला जनपद रायबरेली के थाना बरछवां से सामने आया है. यहां के एक आशिक मिजाज दारोगा पर आरोप है कि वह फरियादी का काम कराने के बदले उनसे अवैध संबंध की चाहत रखता था। फिलहाल, आरोपी दारोगा पर केस दर्ज कर लिया गया है और पुलिस अधीक्षक ने उसे निलंबित भी कर दिया है।
दरअसल, रायबरेली से एक रंगीन मिजाज़ दारोगा अरशद नदीम की करतूत सामने आई है. बताया जा रहा है कि यहां के एक दारोगा एक फरियादी महिला से मदद के बदले अवैध संबंध बनाने की मांग करता था. एक बार महिला ने इस बात का ऑडियो रिकॉर्ड कर लिया और उसे आधार बनाते हुए पुलिस में तहरीर दी. इसके बाद पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवास्तव ने दारोगा को निलंबित कर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है. पुलिस अधीक्षक के आदेश पर दारोगा के खिलाफ संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। 
मामला बछरावां थाना इलाके का है. जानकारी के मुताबिक, यहां के एक गांव की रहने वाली विवाहित महिला का अपने पति से विवाद हुआ था. इसी मामले को लेकर महिला ने थाने में तहरीर दी थी. इसी बीच बछरावां थाने में तैनात दारोगा अरशद नदीम ने महिला को मदद के नाम पर लुभाना शुरू कर दिया. महिला का आरोप है कि अरशद नदीम ने उसकी मदद करने से पहले शारीरिक संबंध बनाने का प्रस्ताव दिया था. इसका ऑडियो भी उसके पास मौजूद है. इसी मामले को लेकर उसने लिखित तहरीर और ऑडियो पुलिस को सौंपा था, जिसके बाद दारोगा अरशद नदीम को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ड्रेस के लिए बच्चे को पीटने वाला प्रिन्सिपल अब पहुंचा सलाखों के पीछे

14 और 15 दिसम्बर 21को जौनपुर रहेंगे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव,जानें क्या है कार्यक्रम

ओमिक्रॉन से बढ़ी दहशत,पूर्वांचल के जनपदो में भी मिलने लगे संक्रमित मरीज,प्रशासनिक तैयारी तेजम