गन्ना किसानों की सुविधा के लिए आनलाइन घोषणापत्र भरने की तिथि 15 नवम्बर

जौनपुर। गन्ना किसानों की सुविधा हेतु घोषणा-पत्र भरने की अन्तिम तिथि को 15 नवम्बर, 2021 तक कर दिया गया है।अन्तिम तिथि तक घोषणा-पत्र न भरने वाले गन्ना किसानों का सट्टा स्वतः हो जाएगा लॉक।घोषणा-पत्र न भरने वाले गन्ना किसानों को पर्ची का मैसेज नहीं होगा प्राप्त, जिसके लिए किसान होंगे स्वयं जिम्मेदार जिला गन्ना अधिकारी हुदा सिद्दीकी ने अवगत कराया है कि प्रदेश के गन्ना किसानां की सुविधा के दृष्टिगत ई.आर.पी. की वेबसाइट enquiry.caneup.in पर ऑनलाइन घोषणा पत्र भरने की अन्तिम तिथि को 15 नवम्बर, 2021 तक कर दिया गया है।
इस सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी देते हुए आयुक्त, गन्ना एवं चीनी संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि पूर्व में कुछ गन्ना किसान ऑनलाइन घोषणा-पत्र भरने से वंचित रह गये। इन कृषकों की सुविधा के दृष्टिगत ऑनलाइन घोषणा-पत्र भरने के लिए अन्तिम अवसर प्रदान करते हुए किसान भाइयों से अपील की जाती है कि वे अपना ऑनलाइन घोषणा-पत्र बिना अन्तिम तिथि का इन्तजार किये शीघ्रातिशीघ्र भर लें। चूॅंकि अन्तिम तिथियों में अधिकाधिक किसानों द्वारा एक साथ घोषणा-पत्र भरे जाने पर वेबसाईट के सर्वर पर भी अनावश्यक भार बढ़ेगा जिससे किसानों को असुविधा का सामना करना पड़ सकता है।
गन्नाआयुक्त ने किसानों से अपील की है कि प्रत्येक दशा में इस अन्तिम अवसर का लाभ लेते हुए आसन्न पेराई सत्र 2021-22 हेतु 15 नवम्बर, 2021 तक घोषणा-पत्र भरदें। जिससे उनके सट्टे के अनवरत संचालन में कोई कठिनाई न हो तथा समय-समय पर उनकी एस.एम.एस. पर्चिया निर्गत हो सकें। बार-बार अन्तिम तिथिको बढाये जाने के बावजूद भी जिन किसानों द्वारा घोषणा-पत्र नहीं भरा जाएगा उन गन्ना किसानों का सट्टा स्वतः ही बन्द हो जाएगा और उनको एस.एम.एस. के माध्यम से कोई भी पर्ची प्राप्त नहीं हो सकेगी, जिसके लिए किसान स्वयं जिम्मेदार होगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ड्रेस के लिए बच्चे को पीटने वाला प्रिन्सिपल अब पहुंचा सलाखों के पीछे

14 और 15 दिसम्बर 21को जौनपुर रहेंगे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव,जानें क्या है कार्यक्रम

ओमिक्रॉन से बढ़ी दहशत,पूर्वांचल के जनपदो में भी मिलने लगे संक्रमित मरीज,प्रशासनिक तैयारी तेजम