धनंजय सिंह पर फिर चला कानून का डन्डा,जानें कोर्ट ने कौन सी अर्जी कर दी खारिज


जौनपुर। जनपद के बाहुबली नेता एवं पूर्व सांसद के साथ भाजपा के एम एल सी प्रत्याशी पर एक बार फिर कानून का डन्डा चला है। छह नवंबर 2017 को जौनपुर के खुटहन ब्लाक मुख्यालय पर हुए उपद्रव मामले में पूर्व सांसद धनंजय सिंह, वर्तमान एमएलसी बृजेश कुमार सिंह प्रिंसू और नवीन सिंह का उनमोचन (बरी) होने का प्रार्थना पत्र कोर्ट ने निरस्त कर दिया। अपर सत्र न्यायाधीश (एमपी/एमएलए कोर्ट) ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ लूट, हत्या के प्रयास, आगजनी व अन्य धाराओं में आरोप तय करने के लिए 31 मार्च की तिथि तय की है। 
प्रतापगढ़ के पूर्व सांसद कुंवर हरिवंश सिंह ने पूर्व सांसद धनंजय सिंह, पूर्व विधायक शैलेंद्र यादव ललई, वर्तमान एमएलसी बृजेश सिंह प्रिंसू समेत 35 के खिलाफ 6 नवंबर 2017 को खुटहन थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। आरोप था कि ब्लॉक प्रमुख सरजू यादव के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव पर प्रशासन द्वारा 6 नवंबर 2017 को दिन में 11 बजे खुटहन ब्लॉक के परिसर में चर्चा होनी थी।
सांसद कुंवर हरिवंश सिंह अपनी बहू नीलम (ब्लॉक प्रमुख) के साथ वहां जा रहे थे। खुटहन ब्लॉक के समीप जौकाबाद गांव के पास आरोपित चार-पांच सौ लोगों के साथ उनके वाहन के सामने आ गए। पूर्व विधायक शैलेंद्र यादव के ललकारने पर धनंजय सिंह, बृजेश कुमार सिंह प्रिंसू व नवीन सिंह जान से मारने की नियत से वादी पर फायरिंग करने लगे।
आरोपियों ने वादी की गाड़ी को तोड़फोड़ करके क्षतिग्रस्त कर दिया था। किसी तरह से वादी दूसरी गाड़ी से ब्लॉक खुटहन की तरफ भागा। इस वाहन पर भी आरोपियों ने अंधाधुंध फायरिंग किया। पहली गाड़ी को जला कर 15-16 लाख रुपए का नुकसान आरोपियों ने कर दिया। अन्य वाहन भी तोड़कर के क्षतिग्रस्त कर दिया। बीडीसी सदस्यों को भी मतदान न करने के लिए आतंकित किया।
कुछ महिला बीडीसी सदस्यों के गले से चैन व कान की बालियां भी आरोपियों ने लूट ली। घटना में काफी लोगों को चोटें आईं। पुलिस ने अपराध पाते हुए कोर्ट में केस डायरी दाखिल की। 21 आरोपियों काप्रार्थना पत्र पूर्व में ही निरस्त हो चुका था।
धनंजय व अन्य आरोपियों का कहना था कि राजनीति के कारण रंजिशन प्राथमिकी दर्ज कराई गई। घटना स्थल से खोखा कारतूस भी बरामद नहीं हुआ। इस तरह की कोई घटना ही नहीं घटी। कोर्ट ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद आरोपितों का उनमोचन प्रार्थना पत्र निरस्त कर दिया है।



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन