बेहतर स्वास्थ्य के लिए जीवनशैली प्रबंधन को बेहतर बनाये : डा. वीएस उपाध्याय


शारीरिक के साथ मानसिक स्वास्थ्य भी है जरूरीः प्रो. निर्मला एस. मौर्य


विश्व स्वास्थ्य़ दिवस पर पीयू में हुई संगोष्ठी
डायबिटीज जागरूकता के लिए हुई पोस्टर प्रतियोगिता

जौनपुर । वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के आर्यभट्ट सभागार में विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर हमारा ग्रह,  हमारा स्वास्थ्य विषयक एक दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इसमें डायबिटीज और हृदय रोग से बचाव के बारे में जानकारी दी गई।
यह संगोष्ठी फार्मेसी विभाग और जौनपुर लायंस क्लब के संयुक्त तत्वावधान आयोजित किया गया।
मुख्य  अतिथि  ह़ृदय और डायबीटिज रोग विशेषज्ञ डॉ. वी. एस. उपाध्याय ने कहा कि आज कि भागदौड़ भरी जिंदगी और बदलती जीवनशैली ने सबसे अधिक युवा पीढ़ी को प्रभावित किया है। उन्होंने कहा कि दवा के साथ साथ हमें अपनी लाइफ स्टाइल मैनेजमेंट को ठीक करना होगा। उन्होंने डायबिटीज और हृदय रोग से बचाव हेतु विस्तार से बताते हुए कहा कि आधी उम्र तो आराम से गुज़र जाती हैं लेकिन अगली आधी उम्र में चिकित्सक व दवाओ का सहारा लेना पड़ता है, बेहतर स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है कि पहले से ही अपनी जीवन शैली प्रबंधन को बेहतर बनाये। उन्होंने कहा कि डायबिटीज से ग्रसित मरीज को ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखना दिल की बीमारी के लिए बहुत जरूरी है। व्यायाम करके इसे बचा जा सकता है
डायबिटीज के बढ़ने पर व्यक्ति को हार्ट संबंधी समस्याएं हो जाती हैं, ऐसा इसलिए क्योंकि डायबिटीज और हार्ट डिजीज के बीच मजबूत कनेक्शन है। दोनों बीमारी बीपी, कोलेस्ट्रॉल और और मोटापे के बढ़ने से होती हैं, इसलिए समय रहते अगर डायबिटीज को कंट्रोल नहीं किया गया, तो हार्ट डिजीज होना निश्चित है।
संगोष्ठी की अध्यक्षता करतीं हुई विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो.‌निर्मला एस. मौर्य‌ ने सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामया का जिक्र करते हुए कहा कि इस ग्रह पर जो भी बीमारी पैदा हो रही है उनसे हमे बचना चाहिए, थकावट हमेशा मन में होता है इसलिए शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य भी बेहतर होना चाहिए, किसी भी बिमारी का समय से इलाज न करना सबसे बड़ी बीमारी है। उन्होंने कहा कि वेद मंत्रों में भी बीमारी के इलाज के साथ-साथ स्वस्थ्य रहने के गुण बताए गए हैं।
कुलसचिव महेंद्र कुमार ने कहा कि व्यक्ति का स्वास्थ्य ही उसका सबसे बड़ा धन है। इसे संभालकर और संजों कर रखने की जरूरत है। इसकी प्रासंगिकता को देखते हुए विश्वविद्यालय में स्वास्थ्य दिवस मनाया जा रहा है ताकि अधिक से अधिक लोग लाभांवित हो सके।
इसके पूर्व मुख्य अतिथि डॉ. वी. एस. उपाध्याय, लायन्स क्लब जौनपुर के अध्यक्ष मदन गोपाल गुप्ता को अंगवस्त्रम और स्मृति चिह्न देकर प्रो. मानस पांडेय और डा. सुनील कुमार ने सम्मानित किया।
लायन्स मण्डल डायबिटीज चेयरमैन सैय्यद मोहम्मद मुस्तफा ने आये हुए अतिथियों का स्वागत किया।इस अवसर पर डायबिटीज जागरुकता विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता हुई जिसमें प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।संगोष्ठी का संचालन डा सुशील कुमार ने और आभार डा धर्मेन्द्र सिंह और कार्यक्रम संयोजक विनय वर्मा ने किया।   
इस अवसर पर प्रो. मानस पांडेय, प्रो. वंदना राय, प्रो. देवराज सिंह, डा. अशोक श्रीवास्तव, डा. अविनाश पाथर्डीकर, डा. प्रदीप कुमार,  डा. मनोज मिश्र, डा. सुनील कुमार, डा. आशुतोष सिंह, डा. रजनीश भास्कर, डा. विवेक पांडेय, डा. प्रमोद कुमार, डा. गिरधर मिश्र, डा. मंगला प्रसाद. नीतेश जायसवाल, डा. धीरेंद्र चौधरी, डा. श्याम कन्हैया सिंह, डा. श्रवण कुमार, सचिव अशोक मौर्य,  मनोज चतुर्वेदी, डा संदीप मौर्य, डा. करूणा निराला, डा. अनुराग मिश्र आदि उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन