अशोका इंस्टीट्यूट के छात्रों ने प्लेसमेंट में लगाई छलांग 225 छात्रो को इन कम्पनियों मिली नौकरियां


वाराणसी। अशोका इंस्टीट्यूट आफ टेक्नालाजी एंड मैनेजमेंट ने इस साल प्लेसमेंट में एक बड़ी छलांग लगाई है। इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स ने इंफोसिस, टीसीएस, विप्रो, टेक महेंद्रा, एडीपी, नेस्ले इंडिया लिमिटेड, बावन साइवरटेक प्राइवेट लिमिटेड, बाई जूस, प्रिज्म जानसन लिमिटेड, सिंटेल, ब्रानटेक, अपग्रेड एजुकेशन, एंटोनी वेस्ट हैंडलिंग सेल, लैंडमार्क ग्रुप समेत कई नामी कंपनियों में शानदार प्लेसमेंट हासिल करके अपनी कामयाबी का पताका फहरा चुके हैं। इनमें दर्जनों स्टूडेंट्स ऐसे हैं जिन्होंने दस-दस लाख तक के पैकेज हासिल किए हैं। अशोका इंस्टीट्यूट पूर्वांचल का इकलौता इंस्टीट्यूट है जहां के 225 से ज्यादा स्टूडेंट्स ने देश-विदेश की नामी कंपनियों में शानदार नौकरियां हासिल की है।
शानदार प्लेसमेंट और आकर्षक पैकेज हासिल करने वाले स्टूडेंट्स में अशोका इंस्टीट्यू की अमृषा षाडिल्य, प्रीति राय, अभिनय पांडेय, रुचि श्रीवास्तव, श्रेया शर्मा, शिवांगी जायसवाल, दीपांशी दीपक,  श्रेया सिंह, हिमांशु राय, आस्था, अतंजलि यादव, विशाल, वैभव, शिवानी, दीक्षा मौर्य, धातृ जायसवाल आदि स्टूडेंट्स शामिल हैं। इनमें कुछ स्टूडेंट्स बीटेक कंप्यूटर साइंस के हैं तो कुछ बीटेक बायो टेक्नालाजी, इलेक्ट्रानिक्स,  इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, एमबीए और फार्मेसी के हैं। इनके अलावा अभय मौर्य, अनूप आर, शायिका निगार, राजदीप सिंह, अनु विश्वकर्मा, राहुल मौर्य, कृष्णानंद यादव, बृजेश मौर्य, नेहा राय, ज्योति यादव, डाली सिंह, शालिनी प्रिया, सिद्धांत श्रीवास्तव, अनुष्का राय, शेफाली सिंह, हर्ष रघुवंशी, इस्मा रहेला खान, संजीव यादव, चेतन शर्मा, प्रीति उपाध्याय, सौरभ सिंह समेत 225 स्टूडेट्स को देश की बड़ी कंपनियों ने जाब आफर किया है। अशोका इंस्टीट्यूट के उन सभी स्टूडेंट्स को नौकरियां मिल गई हैं, जिनकी दिलचस्पी हायर एजुकेशन नहीं थी। कुछ स्टूडेंट्स ने अपना खुद का स्टार्ट-अप शुरू किया है। 
अशोका इंस्टीट्यूट के प्लेसमेंट प्रभारी ओमप्रकाश शर्मा के मुताबिक इस साल एडीपी प्राइवेट लिमिटेड ने 05, इंफोसिस ने 11, टीसीएस ने 10, विप्रो ने 09, बाईजूस ने 04, जारो एजुकेशन ने 04, नेस्ले ने 02, एंटोनी वेस्ट ने 03, वंडर ग्रुप्स ने 15, डूथ ट्रांसमिशन ने 31 स्टूडेंट्स को शानदार नौकरियों का आफर दिया है। प्रबंधन और आईटी की रुपहली दुनिया में करियर तलाशने वालों के लिए अशोका इंस्टीट्यूट एक ऐसा पड़ाव है जहां वह अपनी श्रेष्ठता दिखा सकते हैं। इन्हीं में एक हैं बीटेक कंप्यूटर साइंस की स्टूडेंट शिवानी गुप्ता। इस छात्रा को देश की कई मल्टीनेशनल कंपनियों ने आफर दिया है। शिवानी का मानना है कि इंस्टीट्यूट का माहौल स्टूडेंट्स को आगे बढ़ने और चुनौतियों का सामना करने का प्रेरणा देता है।
श्री शर्मा के मुतूबिक अशोका इंस्टीट्यूट में बीटेक कंप्यूटर साइंस के छठे सेमेस्टर में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स प्रिंस कुमार को मल्टीनेशनल कंपनी टीसीएस ने कोर्स पूरा करने से पहले ही नौकरी के लिए आफर लेटर दे दिया है। अशोका इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स ने नई खोजों से लखनऊ में इनोवेशन पर आधारित प्रतिष्ठापूर्ण प्रतिस्पर्धा में शानदार रिकार्ड बनाया है। अग्निपथ योजना के अग्निवीरों के लिए सोलर कूलिंग कैंप, स्मार्ट मास्क, स्मार्ट सोलर हेलमेट, स्मार्ट सिटी के लिए स्मार्ट सीवर सिस्टम आदि प्रोजेक्ट बनाकर देश-दुनिया में शाबासी पाई है। यहां स्टूडेंट्स ने कई अनूठे माडल्स बनाए हैं जो राज्य स्तरीय प्रदर्शनियों में अव्वल आए हैं।
वाइस चैयरमैन अमित मौर्य के मुताबिक, अशोका इंस्टीट्यूट अपने स्टूडेंट्स को सिर्फ अच्छी नौकरियों के लिए ही तैयार नहीं करता, बल्कि खुद की कंपनी स्थापित (स्टार्टअप) करके दूसरों को रोजगार देने वाला भी बनाता है। स्टार्टअप के रूप में नई कंपनी शुरू करने के लिए अशोका इंस्टीट्यूट जरूरी ढांचागत सुविधाओं के साथ विशेषज्ञों की सलाह और कई अन्य सुविधाएं भी मुहैया कराता है। अशोका इंस्टीट्यूट बेहतरीन प्लेसमेंट, नए अनुसंधान, विश्व स्तरीय लाइब्रेरी, ई-लाइब्रेरी, अच्छी फैकेल्टी, प्रयोगशालाओं में दुनिया की नई तकनीक का उपयोग आदि के लिए खासतौर पर जाना जाता है। इंस्टीट्यूट के कई स्टूडेंट्स विदेशों की प्रमुख कंपनियों में शानदार पैकेज पर नियुक्ति पाकर अपने सपनों को साकार कर रहे ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जफराबाद विधायक को हार्ट अटैक फस्टेड के बाद, मेदान्ता के लिए रेफर

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर

योगी सरकार ने यूपी में आज फिर 12 आईएएस का तबादला, देखे सूची