जानिए आखिर पिता अपनी बेटी को लेकर कूएं में कूद कर आत्महत्या क्यों किया

यूपी के जनपद गाजीपुर के लोहजरा गांव से दिल हदला देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक युवक रविवार अलसुबह अपनी सात साल की बेटी के साथ कुएं में कूद गया। घटना में पिता की मौत हो गई। जबकि बेटी संजू को ग्रामीणों ने बचा लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
बताया जा रहा है कि खुदकुशी करने वाला युवक तीन असफल विवाह के कारण मानसिक रूप से परेशान था। खानपुर थाना क्षेत्र के शिवदासपुर पोखरा गांव निवासी सुनील राजभर (50) की पत्नी आठ साल पहले बेटी संजू को छोड़कर कहीं चली गई। सुनील ने गृहस्थी बसाने के चक्कर में कुल तीन बार विवाह किया लेकिन एक-एक कर सभी छोड़कर चली गईं।
इकलौती बेटी को लेकर पिछले आठ सालों से सुनील दर-दर भटकते हुए किसी तरह जीवन यापन कर रहा था। बेटी को पालने में असमर्थ होने पर उसने यह खौफनाक कदम उठाया। लेकिन खुद तो जीवन से मुक्त हो गया पर अपनी सात साल की बेटी को इस दुनिया में अकेला छोड़ गया।
रविवार अलसुबह करीब चार सुनील राजभर अपनी बेटी संजू को लेकर गांव से पांच सौ मीटर दूर उत्तर दिशा में लोहजरा गांव पहुंचा। पीपल पेड़ के पास बेटी का हाथ पकड़ा और पुराने सूखे कुएं में कूद गया। कुएं में गिरने से सुनील को गंभीर चोट आई। जिसके कारण कुछ देर में ही उसकी मौत हो गई। वहीं घायल अवस्था में कुएं के अंदर पड़ी उसकी बेटी बचाने की गुहार लगाती रही। 
कुएं के अंदर से संजू के कराहने की आवाज सुनकर ग्रामीणों ने झांका तो आवाक रह गए। गांव के कुछ साहसी युवक कुएं में उतरे और बच्ची को बाहर निकाला। उसकी हालत गंभीर हो गई थी। जिला पंचायत सदस्य रामखेलावन यादव ने अचेत संजू को ग्रामीणों की मदद से उपचार के लिए निजी चिकित्सक के पास पहुंचाया। मौके पर जब पुलिस पहुंची तो कुएं से सुनील के शव को बाहर निकाला गया। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

खुशखबरी: बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग में मुख्य सेविका पद पर होगी भर्ती,जानें कौन कर सकेगा आवेदन