वाहन चालको की भर्ती आयोग से हुई निरस्त अब होगा आउटसोर्सिंग का खेल


उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने वाहन चालक (सामान्य चयन) भर्ती को निरस्त कर दिया है। आयोग के परीक्षा नियंत्रक विधान जायसवाल के अनुसार वाहन चालक भर्ती के अंतर्गत विज्ञापन से संबंधित सभी अधियाचन संबंधित विभागों द्वारा वापस लिए जाने का अनुरोध किया गया है। इस क्रम में आयोग की आठ फरवरी को हुई बैठक में विज्ञापन के सापेक्ष चयन के संबंध में अगली कार्यवाही न किए जाने से यह विज्ञापन निरस्त करने का निर्णय लिया गया है।
प्रदेश के सात विभागों द्वारा लगभग 138 पदों के लिए आयोग को अपना भर्ती प्रस्ताव भेजा गया था। जिसके बाद आयोग द्वारा विज्ञापन जारी किया गया। वहीं इनके आवेदन लेकर ड्राइविंग टेस्ट आदि भी कर लिया गया। 2018 में एक शासनादेश आया कि वाहन चालक, माली आदि के पदों पर नियमित भर्ती न करके आउटसोर्सिंग से रखा जाए। इसके बाद आयोग की ओर से संबंधित विभागों को यह शासनादेश भेजते हुए इस पर उनका पक्ष मांगा गया।
जिसके बाद कुछ विभागों ने अपना प्रस्ताव वापस ले लिया और कुछ ने शासन को भेज दिया। इसी बीच अभ्यर्थी कोर्ट चले गए। आयोग ने कोर्ट में अपना पक्ष रखा, जहां उन्हें इस बारे में स्पष्ट निर्देश जारी करने को कहा गया। इसी बीच अन्य विभागों ने शासनादेश के अनुपालन में अपना भर्ती प्रस्ताव वापस ले लिया। इसके बाद बृहस्पतिवार को आयोग ने भर्ती निरस्त करने की सूचना जारी की।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद