सपा प्रदेश कार्यकारणी की बैठक में निर्णय पीडीए के जरिए भाजपा को सत्ता से करेगी बाहर,सभी 80 सीटो पर करे तैयारी

सपा की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में बूथ संगठन और मतदाता सूची पर विशेष निगाह रखने पर जोर रहा। राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सभी 80 सीटों पर भाजपा को हराने की तैयारी करें। बूथ स्तर पर संगठन को मजबूत करें। एक भी बूथ की मतदाता सूची में मनमाने ढंग से न तो नाम काटे जा सकें और न फर्जी नाम जुड़ सकें। बैठक में हर कार्यकारिणी सदस्य को एक विधानसभा क्षेत्र में संगठन को मजबूत करने की जिम्मेदारी भी सौंपी गई।
प्रदेश सपा मुख्यालय पर बुधवार को करीब 5 घंटे चली कार्यकारिणी बैठक में संगठन को मजबूत करने पर मंथन किया गया। करीब 450 सदस्यों और विशेष आमंत्रित सदस्यों ने हिस्सा लिया। चरखारी के पूर्व विधायक व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कप्तान सिंह राजपूत ने बताया कि बैठक में तय हुआ कि सभी 80 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी करनी है। उन्हें भी विधानसभा क्षेत्र राठ (हमीरपुर) की जिम्मेदारी दी गई है। एक माह के भीतर प्रदेश नेतृत्व को यह रिपोर्ट देनी होगी कि संबंधित विधानसभा क्षेत्र में बूथ कमेटियों का गठन ठीक से हुआ है या नहीं।
प्रदेश सचिव महेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि उन्हें विधानसभा क्षेत्र खलीलाबाद की जिम्मेदारी दी गई है। चौहान ने बताया कि सभी को सदस्यता अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही यह भी देखना है कि मतदाता सूचियों में सत्ताधारी दल किसी तरह की गड़बड़ करने की जुगत तो नहीं भिड़ा रहा है। जौनपुर की शाहगंज विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी बनाए गए प्रदेश सचिव राजन कनौजिया ने बताया कि प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र प्रभारी को हर महीने की 5 तारीख को क्षेत्र में रहकर पार्टी बैठक में हिस्सा लेना है। अपनी रिपोर्ट सीधे प्रदेश अध्यक्ष को भेजने के लिए कहा गया है, ताकि तैयारियों का समय-समय पर जायजा लिया जा सके।
राज्य कार्यकारिणी की बैठक में प्रदेश की राजनीतिक स्थिति, पार्टी संगठन और चुनावी रणनीति पर चर्चा की गई। बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने की। सपा के प्रमुख महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव ने कहा कि काम न करने वाले पदाधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाया जाना चाहिए। महासचिव शिवपाल सिंह यादव संगठन को मजबूत करने पर जोर दिया। इस अवसर पर राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी भी मौजूद रहे।
सपा की राज्य कार्यकारिणी की बैठक में अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे लोकसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए पूरी तैयारी के साथ अभी से जुट जाएं। देश में लोकतंत्र और संविधान बचाने के लिए यह अंतिम चुनाव है। समाजवादी पीडीए (पिछड़े, दलित और अल्पसंख्यक) ही भाजपा के एनडीए को सत्ता से हटाएगा।
अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार शासन-प्रशासन का दुरुपयोग कर चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश करेगी। इसलिए पार्टी कार्यकर्ता इसकी निगरानी में लग जाएं। उन्होंने कहा कि जनता को बिजली के बढ़े हुए बिल थमा कर भाजपा सरकार उनका शोषण करती रही है। शिक्षा-स्वास्थ्य और कानून-व्यवस्था चौपट है। भाजपा ने किसानों और नौजवानों की उपेक्षा की है। हर स्तर पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिल रहा है।
सपा अध्यक्ष ने कहा कि वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में 3 लाख 50 हजार मतों के अंतर से भाजपा ने समाजवादी पार्टी को सत्ता में नहीं आने दिया। भाजपा अभी भी समाजवादी पार्टी के मतदाताओं के वोट काटने की साजिश में लगी है। भाजपा के षड्यंत्रों से समाजवादी पार्टी डरने वाली नहीं है। इस लड़ाई को आगे बढ़ाने के लिए जातीय जनगणना बहुत जरूरी है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, बैठक में यह संदेश भी दिया गया कि लोकसभा चुनाव इंडिया गठबंधन के तहत लड़ा जाएगा। लेकिन, मध्य प्रदेश का अनुभव हम सबके सामने है, इसलिए सभी सीटों पर संगठन को मजबूत किया जाए।

Comments

Popular posts from this blog

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?

स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यालय में तोड़फोड़ गोली भी चलने की खबर, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

लोकसभा चुनाव के लिए सायंकाल पांच बजे तक मतदान का प्रतिशत यह रहा