जानिए कैसा रहेगा मौसम: मिचौंग के बाद बढ़ेगी कड़ाके की ठंड, सावधान जानें क्या होगा असर


बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान मिचौंग का प्रभाव 11 दिसम्बर तक बने रहने की प्रबल संभावना व्यक्त की गई है। बदली, बूंदाबांदी और हवा मिलकर ठंड का वातावरण बनाए रखेंगे। बादल को छंटने के साथ कोहरा का प्रभाव बढ़ने लगेगा। ऐसा मौसम विज्ञानियों का मानना है।
दो दिन तक मौसम सामान्य रहने के बाद फिर पश्चिमी विक्षोभ संग आने वाली हवाएं रविवार या सोमवार से गलन का दौर आरंभ कर सकती हैं। मिचौंग के प्रभाव से तीन दिनों से छाई बदली गुरुवार को बनी रही। दिन में कहीं-कहीं हल्की तो कहीं अधिक बूंदाबांदी भी हुई।
बादलों के प्रभाव से तापमान में डेढ़ से दो डिग्री की वृद्धि हुई और अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री नीचे 25.7 तथा न्यूनतम तापमान सामान्य से सात डिग्री ऊपर 18 डिग्री सेल्सियस रहा। वातावरण में बनी 79 से 95 प्रतिशत नमी के कारण गुरुवार को भी ठंडी हवा चलने और बूंदबांदी होने की संभावना बनी हुई है।
मौसम विज्ञानियों का कहना है कि यह वातावरण बस एक दो दिन और बना रह सकता है। उसके बाद इसमें परिवर्तन आना आरंभ हो जाएगा। बीएचयू के मौसम विज्ञानी प्रो. मनोज कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि शनिवार को सुबह कोहरे के की चादर से ढका रहेगा लेकिन बाद में धूप भी होगी। इससे दिन के अधिकतम तापमान में वृद्धि होगी और मौसम सामान्य हो जाएगा। इसके दो दिन बाद फिर पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव सोमवार तक आ सकता है और ठंडी हवा का झोंका गलन बढ़ा सकता है।
वरिष्ठ मौसम विज्ञानी प्रो. एसएन पांडेय भी कहते हैं कि मिचौंग का प्रभाव आज भर और बना रह सकता है। इसके बाद मौसम साफ हो जाएगा। सुबह कोहरा बना रह सकता है। अब जो विक्षोभ आएगा, उसका प्रभाव पूर्वी उत्तर प्रदेश में दो दिनों बाद ठंड बढ़ा सकता है।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद