शिक्षा सेवा अधिकरण के सवाल पर हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने छेड़ी आर पार की लड़ाई


शिक्षा सेवा अधिकरण के मुद्दे पर इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ता एक बार फिर आरपार की लड़ाई लड़ने की तैयारी में हैं। पिछले तीन दिनों से न्यायिक कार्य का बहिष्कार कर रहे अधिवक्ताओं ने शुक्रवार को एक बड़ा जुलूस निकाल कर न सिर्फ आंदोलन की धार तेज की बल्कि आगे भी लड़ाई लड़ने का संकेत दे दिया है। तय किया गया कि सोमवार को भी न्यायिक कार्य नहीं किया जाएगा। जुलूस में सैकड़ों की संख्या में अधिवक्ता शामिल हुए। 
अधिवक्ताओं की एक बैठक लाइब्रेरी हॉल में हुई, जिसमें कहा गया कि शिक्षा सेवा अधिकरण न्यायपालिका के क्षेत्राधिकार में दखल देने का प्रयास है। शिक्षकों और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को न्यायपालिका तक पहुंचने से रोकने का प्रयास किया जा रहा है। हाईकोर्ट के न्यायाधीशों की 12 पीठें शिक्षा संबंधी मुकदमों की सुनवाई व निस्तारण कर रही हैं। इसके स्थान पर अधिकरण में रिटायर्ड अधिकारियों की पांच छह पीठों को यह काम सौंपा जा रहा है, जिनको न तो कानून का ज्ञान होता और न ही क्षेत्र में कोई योगदान है। 
अधिवक्ताओं के जुलूस का नेतृत्व वरिष्ठ अधिवक्ताओं ओपी सिंह, सीएल पांडेय, राधाकांत ओझा, जीके सिंह, वीके सिंह, राकेश पांडेय, आईके चतुुर्वेदी, टीपी सिंह ने किया। जुलूस में पूर्व विधायक अनुग्रह नारायण सिंह, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष एसी तिवारी, सत्यवीर सिंह जादौन, शशि प्रकाश सिंह, संतोष कुमार मिश्र, प्रमोद कुमार सिंह, विक्रांत पांडेय, अखिलेश शर्मा, प्रियदर्शी त्रिपाठी, परवेज इकबाल आदि शामिल रहे। बार के अध्यक्ष अमरेंद्र नाथ सिंह, महासचिव प्रभाशंकर मिश्र ने आम सभा की बैठक की अध्यक्षता व संचालन किया। तय किया गया कि सोमवार को भी न्यायिक कार्य नहीं किया जाएगा। बैठक में वरिष्ठ उपाध्यक्ष जमील अहमद आजमी, उपाध्यक्ष अजय कुमार मिश्र, अनिल पाठक, रजनीकांत राय, केके राय, अंजू श्रीवास्तव, अभिषेक शुक्ला, दिलीप कुमार पांडेय, राजेंद्र कुमार सिंह, मंजू पांडेय, दुर्गेश चंद तिवारी सहित सैकड़ों अधिवक्ता शामिल थे। 
हाईकोर्ट बार एसोसिएशन द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन को केद्रिय प्रशासनिक अधिकरण (कैट) बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष जितेंद्र नायक ने बताया कि हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के समर्थन में कैट बार एसोसिएशन भी आंदोलन में पूरा सहयोग और समर्थन करेगी तथा एक मार्च सोमवार को कैट के अधिवक्ता भी न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। वहीं उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राम प्रकाश पांडेय और जिला मंत्री ने अनुज कुमार पांडेय ने बार के आंदोलन को संघ की ओर से समर्थन दिया है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक

मनीष हत्याकांड का आरोपी 01लाख रुपए का इनामी, जौनपुर निवासी दरोगा विजय यादव हुआ गिरफ्तार, एसआईटी की पूंछताछ जारी