प्रदेश के जेलों में कोरोना का कहर विभिन्न जिलों में 11 विचाराधीन बन्दियो की संक्रमण से हुई मौत

 

बढ़ते कोरोना का असर हाल के दिनों प्रदेश की जेलों में भी देखने को मिल रहा है। अलग अलग जेलों में कई बंदियों को कोरोना होने के बाद जेल प्रशासन लगातार उनकी देखभाल कर रहा है। बावजूद इसके अब तक प्रदेश की विभिन्न जेलों में 4 कर्मियों एवं 7 कैदियों समेत 11 लोगों की मौत हो चुकी है। बता दें कि जेल प्रशासन कोरोना का संक्रमण और न बढे इसके लिए कैदियों को काढ़ा आदि देने का काम कर रहा है। वहीं दूसरी तरफ कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए, विभिन्न जिलों में कहीं 90 दिनों की तो कहीं 60 दिनों की पैरोल पर कैदियों छोड़ा गया हैं। जेल विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अब तक प्रदेश में 4,802 विचारधीन कैदी रिहा चुके हैं। 
इलाहाबाद हाई कोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय यादव अध्यक्षता में यूपी में एक हाई पावर कमिटी बनाई गई है जो 60 दिन के अंदर किसी बीमारी से ग्रस्त बंदियों को रिहा करने काम करेगी। इन कैदियों में 65 साल से ऊपर के भी विचार किया जाएगा। यह कमिटी सुप्रीम कोर्ट पर कोरोना निगरानी के लिए बनी है। जेल सूत्रों ने बताया कि कमेटी की अगली बैठक 22 मई को होगी। वहीं दूसरी तरफ 30 मई तक न्यायालय में पेशी रोक दी गई है। यूपी में कोरोना आपको बताते चलें कि यूपी में कोरोना की संख्या घट और बढ़ रहा है। आकड़ों की माने तो यूपी में 17,775 नए कोरोना मरीज मिले हैं। जबकी दूसरी ओर बुधवार के दिन कोरोना के 18,125 नए मामले आए थे। वहीं अब तक कोरोना के 15,80,980 केस हो गए है। जबकि कोरोन से यूपी में पिछले 24 घंटे में 281 मरीजों की मौत हो चुकी है। योगी सरकार का कहना है कि यूपी में तेजी से कोरोना केस घट रहे हैं। फिर भी कोरोना संक्रमण से जेल प्रशासन घबराये हुए हैं। 

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा ने पहले फेज के चुनाव हेतु प्रत्याशियों की जारी की सूची इन लगाया दांव

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

जौनपुर में बसपा को जोर का झटका करीने से, डॉ जेपी सिंह ने सुभासपा किया ज्वाइन