शाही ईदगाह में कोविड-19 के कारण नहीं हुई नमाज,फिर भी जाने क्यों था सरकारी पहरा



जौनपुर। इस्लाम में 30 रोजों को गुजारने के बाद ईद का बहुत ही महत्व है,चंद्र दर्शन के बाद आज पूरे मुल्क में ईद मनाई जा रही  है, लेकिन ईद की नमाज ना होने की वजह से ईद की रौनक फीकी पड़ गई है।

इस्लाम में ईद की नमाज को सामूहिक रूप में खुले मैदान में पढ़ने का हुक्म है, लेकिन  कोविड-19 की वजह से यह संभव नहीं हो सका। शाही ईदगाह कमेटी ने पहले ही ऐलान करवा दिया था कि ईदगाह में नमाज नहीं होगी जिसका आवाम ने पालन भी किया और लोगों ने ईद के बदले अपने घरों पर ही नफिल नमाज पढ़कर शुकराना अदा किया,हालांकि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी शाही ईदगाह में साफ-सफाई व रंग रोगन का काम पूरा कराया गया था।

सुरक्षा की दृष्टि से हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी प्रशासन के उच्च अधिकारी लगातार भ्रमण करते रहे और ईद गाह के पास भारी पुलिस फोर्स मौजूद रही।इस मौके पर कमेटी के लोगों ने पहुंचकर आवाम का शुकराना अदा किया कि उन्होने शासन प्रशासन के दिशा निर्देश का पालन किया इसमें मुख्य रूप से सेक्रेटरी मो शोएब अच्छू,नेयाज ताहिर शेखू, रियाजुल हक, हाजी इमरान ,अजीम जौनपुरी, आदि लोग मौजूद रहे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर में बसपा को जोर का झटका करीने से, डॉ जेपी सिंह ने सुभासपा किया ज्वाइन

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

मल्हनी विधायक लकी यादव एवं उनके एक दर्जन समर्थको पर बक्शा थाने में दर्ज हुआ मुकदमा