पत्रकारों को कोरोना योद्धा घोषित किया जाये : कृपा शंकर सिंह



जौनपुर । महाराष्ट्र के पूर्व गृहराज्य मंत्री कृपाशंकर सिंह  होम आइसोलेशन से बाहर आने के बाद महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिल कर देश के पत्रकारों को कोरोना योद्धा घोषित करने की माँग के साथ ही दूध विक्रेताओं ,ऑटो चालकों तथा कामगारों की समस्याओं के समाधान हेतु बात की है। इस संबंध में राज्यपाल को एक मांग पत्र सौंपा। राज्यपाल ने कृपाशंकर सिंह को भरोसा दिलाया कि वे उनकी मांगों को लेकर प्रधानमंत्री को पत्र लिखेंगे ।  
राज्यपाल को सौंपे गए पत्र में कृपाशंकर सिंह ने देेेश के पत्रकारों को कोविड फ्रंटलाइन वारियर्स का दर्जा देने की मांग की है। पत्र में लिखा है कि कोरोना संक्रमण के चलते महाराष्ट्र में अब तक 55 पत्रकारों  सहित देश के सैकड़ों पत्रकारों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। 
लॉकडाउन निर्देशों के चलते दूध विक्रेताओं को हो रही परेशानियों का हवाला देते हुए शाम को भी दूध बेचने की अनुमति देने की मांग की है। पत्र में कहा गया है कि दूध बेचने की अनुमति सिर्फ सुबह 7  से 11 के बीच दी गई है जबकि दुधारू पशु सुबह और शाम दो बार दूध देती हैं । ऐसे में शाम का दूध खरीदने के लिए डीलर्स तैयार नहीं है। दूध की बर्बादी बचाने के लिए शाम को भी दूध बेचने की अनुमति दी जानी चाहिए। मुंबई के 7.5 लाख रिक्शा चालकों के लिए महाराष्ट्र सरकार द्वारा पास किए गए 107 करोड़ों रुपए के पैकेज का हवाला देते हुए कृपाशंकर सिंह ने सभी रिक्शा चालकों को तत्काल घोषित 15–15 सौ रुपए देने की मांग की है।
महाराष्ट्र सरकार द्वारा आर्थिक रूप से दुर्बल वर्ग के लिए  3 किलो गेंहू तथा 2 किलो चावल मुफ़्त देने की घोषणा को अपर्याप्त बताते हुए कृपा शंकर सिंह ने कहा कि  दुर्बल वर्ग धोबी, नाई, बढ़ई, लोहार, कुली, कुम्भार, राजगीर, दिहाड़ी मजदूरों आदि को 5 हज़ार रुपए प्रति माह की आर्थिक मदद दी जानी चाहिए ताकि वे अपने परिवार का पोषण कर सकें।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा ने पहले फेज के चुनाव हेतु प्रत्याशियों की जारी की सूची इन लगाया दांव

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

जौनपुर में बसपा को जोर का झटका करीने से, डॉ जेपी सिंह ने सुभासपा किया ज्वाइन