अमित शाह,अनुप्रिया पटेल के मुलाकात का जानें क्या असर होगा जौनपुर की सियासत पर भी ?



जौनपुर। दिल्ली में भाजपा नेताओ से अपना दल की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल के मुलाकात के बाद प्रदेश की राजनीति पर जो भी असर हो लेकिन जौनपुर की सियासत में जबर जस्त खलबली मची हुई है। खासकर इस समय जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को राजनैतिक उठा पटक की संभावनायें प्रबल दिख रही है। सुसुप्ता अवस्था में चल रहा अपना अचानक सक्रिय नजर आने लगा है। यहां तक कि बैठक कर चुनाव की रणनीत बनाने लगे है। 
यहां बता दें कि राजनैतिक गलियारे में इस बात की चर्चा खास है कि अपना दल भाजपा के साथ मिल कर जौनपुर जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए चुनाव लड़ना चाहता है। अपना दल के जिला एवं प्रदेश स्तरीय नेताओ ने राष्ट्रीय अध्यक्ष को इस बाबत पत्र देकर अवगत कराया था कि भाजपा जौनपुर सहित पूर्वांचल के कम से कम तीन जनपदों को अपना दल के कोटे में छोड़ दे और अपना दल को सहयोग करे।खबर है कि दिल्ली में अमित शाह से मुलाकात के दौरान अपना दल की नेता ने जौनपुर सहित भदोही और मिर्जापुर जनपद के जिला पंचायत अध्यक्ष पद को अपना दल के लिए छोड़ने और सहयोग की भी बात किया है। सूत्र की माने तो सहमति के संकेत है। 
यहां यह स्पष्ट कर दें कि जौनपुर जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव करने के लिए सदस्यों की कुल संख्या 83 है जिसमें अकेले सपा विचारधारा के 42 सदस्य चुनाव जीते हुए है। भाजपा किसी तरह दहाई अंक तक पहुंच सकी है यानी 10 सदस्य भाजपाई है। बसपा भी 10 सदस्य की मालिक बन गयी है। अपना दल के 06 सदस्य चुनाव जीत सके है अब जिसे अपना दल अपना प्रत्याशी बनाना चाहती है वह चुना गया बसपा के कोटे में अब अपना दल में शामिल हो गया है अब सदस्य संख्या 07 हो गई है। उलेमा कौन्सिल 2 आप एक शेष निर्दल सदस्य चुनाव जीते है।
अभी तक जौनपुर जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए सपा ने अपने पत्ते खोलते हुए निशी यादव को प्रत्याशी घोषित किया है भाजपा के टिकट के प्रबल दावेदार के रूप में अपना दल से जनपद प्रतापगढ़ से सांसद रहे हरिवंश सिंह अपने बहू नीलम सिंह को चुनाव मैदान में लाये और प्रचार भी कर रहे है लेकिन भाजपा ने अपना अधिकृत प्रत्याशी नही बनाया है। इसी बीच अपना दल की अनुप्रिया पटेल का दिल्ली में भाजपा नेताओ से मिलने के बाद यह चर्चा तेज हो गई कि जौनपुर से भाजपा पीछे हट सकती है क्योंकि राष्ट्रीय नेतृत्व ने 2022 के विधान सभा चुनाव को देखते हुए क्षेत्रीय दलो को तरजीह देने की बात किया है। ऐसे में अपना दल की जिद पूरी हो सकती है भाजपा अपना दल मिल कर अपना दल के प्रत्याशी को चुनाव लड़ा सकते है इसकी संभावनाए प्रबल होती दिखाई दे रही है। ऐसी दशा में सदस्य बल वाली सपा एवं बाहुबली और धनबली धनन्जय सिंह की पत्नी श्री कला सिंह रेड्डी के मुकाबले में भाजपा की जगह अपना दल भाजपा के सहयोग से पहली बार जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव के मैदान में नजर आ सकती है 
इस मुद्दे पर अपना दल के राष्ट्रीय महासचिव पप्पू माली से वार्ता करने पर जानकारी दिया कि यदि फाइनल हो गया कि अपना दल जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव लड़ेगा तो पार्टी के कार्यकर्ता तैयार है इसलिए जिला अध्यक्ष की अध्यक्षता में 12 जून को मंथन बैठक भी हुई है।
इस तरह जो परिदृश्य नजर आ रहे है वह इतना संकेत कर रहे है कि दिल्ली में अपना दल की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल और अमित शाह के मुलाकात का राजनैतिक असर जनपद जौनपुर में देखने को मिल सकता है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर में बसपा को जोर का झटका करीने से, डॉ जेपी सिंह ने सुभासपा किया ज्वाइन

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

मल्हनी विधायक लकी यादव एवं उनके एक दर्जन समर्थको पर बक्शा थाने में दर्ज हुआ मुकदमा