बी0आर0सी0 पर दुर्व्यवस्था के कारण हो रहा शिक्षको का शोषण बन्द हो - अरविन्द शुक्ला

 जौनपुर। उत्तरप्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के  जिलाध्यक्ष अरविंद शुक्ला के आह्वान पर   उत्तरप्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की जनपद की समस्त ब्लाक कार्यकारिणी द्वारा प्रत्येक खण्ड शिक्षा अधिकारी को 8 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया गया कि  खण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में कार्यरत सहायकों के कार्य आवंटन, डिस्पैच रजिस्टर, अधिकारी के मिलने का समय  निर्धारित न होने के कारण शिक्षको को अपनी सेवा-शर्तों से जुड़ी समस्याओं के निस्तारण हेतु अनावश्यक भागदौड़ करनी पड़ती है  जिससे शिक्षक शोषण के शिकार हो रहे है । विद्यालयों में बच्चों का नामांकन बढ़ा है ,उत्साहित शिक्षक अभिभावकों के भरोसे पर खरा उतरना चाहता है, जिसके लिए वह जी-जान से परिश्रम भी कर रहे है । बेसिक शिक्षा अपने गौरव को पुनः प्राप्त करे ,इसके लिए शिक्षको को शोषणमुक्त करना होगा ।
शिक्षक मांगे निम्नवत है: 
 1-शिक्षको के बार-बार आग्रह के बावजूद खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में कार्यालय सहायकों/स्टाफ के कार्यो का बंटवारा कर सार्वजनिक नही किया जा रहा है , शिक्षक किसके पास कौन सा कागज जमा करे ,पता ही नही चल पा रहा है, अधिकारी के मिलने का समय निर्धारित न होने के कारण शिक्षक बार बार बी0आर0सी0 का चक्कर लगाता है ।व्यवस्था से असहाय शिक्षक शोषण का शिकार बन रहा है । जबकि उपरोक्त के संबंध में महानिदेशक स्कूल शिक्षा एवम राज्य परियोजना निदेशक कार्यालय का आदेश पूर्व में ही जारी है । उपरोक्त आदेश का अनुपालन सुनिश्चित किया जाय और कार्य आवंटन को सार्वजनिक किया जाय ।
2-शिक्षको के वेतन बिल, बकाया वेतन, सर्विस बुक के संरक्षण का कार्य किसी शिक्षक से कदापि न लिया जाय ।
3-शिक्षकों के बकाया वेतन, चयन वेतनमान सहित अन्य देयकों की फ़ाइल को सामूहिक रूप से जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय/वित्त एवम लेखाधिकारी कार्यालय में अधिकृत व्यक्ति द्वारा प्रस्तुत किया जाय ।
4-शिक्षको की सेवाशर्तों से जुड़ी समस्याओं का निस्तारण निश्चित अवधि में तय की जाय ।
5-जिन समस्याओं का निस्तारण निश्चित अवधि में न  हो , उनके निस्तारण के लिए महीने में एक दिन समाधान दिवस के रूप में रखा जाय ।
6-टाइम एंड मोशन शासनादेश का अनुपालन सुनिश्चित करते हुए शिक्षण अवधि में किसी प्रकार के आयोजन/बैठक/गैर शैक्षणिक कार्य हेतु शिक्षको को निर्देशित न किया जाय ।शिक्षको को सिर्फ शिक्षण कार्य करने दिया जाय ।
7-विकासक्षेत्र में कार्यरत ARP द्वारा विद्यालयो में धरातल पर शैक्षिक सपोर्ट देना सुनिश्चित कराया जाय ।
8-किसी ड्राइवर शिक्षक अथवा अनाधिकृत व्यक्ति को लेकर विद्यालयों का निरीक्षण कदापि न किया जाय ।
 विभिन्न विकासक्षेत्रो में  ज्ञापन देने वालो में ब्लॉक कार्यकारिणी के साथ  संजीव सिंह सिरकोनी, रामप्रसाद यादव मडियाहू, अनिल पांडेय बदलापुर, लालसाहब यादव बक्शा, अरुण सिंह रामनगर, धर्मेंद्र यादव धर्मापुर सहित अन्य ब्लॉक अध्यक्ष के नेतृत्व में पूरे जनपद के बी0 आर0 सी0 पर ज्ञापन दिया गया ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक

पूर्वांचल की राजनीति का एक किला आज और ढहा, सुखदेव राजभर का हुआ निधन