परीक्षा परिणाम में धांधली का आरोप लगाकर छात्रो ने किया प्रदर्शन,जायज मांग मानने का मिला आश्वासन


जौनपुर । वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय ने स्नातक अंतिम वर्ष का परीक्षा परिणाम जारी किया है। परीक्षा परिणाम में बड़ी तादाद में छात्र फेल हो गए हैं। इसे लेकर छात्रों का आरोप है कि पास छात्रों को भी फेल कर दिया गया है। छात्र मूल्यांकन में गड़बड़ी का आरोप लगा रहे हैं। आज मंगलवार को विश्वविद्यालय परिसर में कुलपति कार्यालय के सामने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के बैनर तले बड़ी संख्या में छात्रों ने नारेबाजी की।
पूर्वांचल विश्वविद्यालय ने बीएससी और कृषि एमएससी कृषि व स्नातक अंतिम वर्ष का परीक्षा परिणाम घोषित किया जा चुका है। आन्दोलन कारी छात्रों का आरोप है कि विश्वविद्यालय
 द्वारा जारी परीक्षा परिणाम में बडे़ पैमाने पर गड़बड़ी है। 25 फीसदी से अधिक छात्र फेल हो गए हैं।  पूर्वांचल विश्वविद्यालय से संबद्ध जौनपुर, आजमगढ़, गाजीपुर और मऊ में करीब सात सौ से अधिक महाविद्यालय का परिणाम गलत तरीके से घोषित किये जाने का आरोप लगाया गया।
यहां बता दें कि जिस परीक्षा परिणाम को लेकर छात्रों में आक्रोश है। वह रिजल्ट 18 सितंबर को वेबसाइट पर अपलोड किया था उसमें काफी खामियां मिल रही हैं। छात्रों का कहना है कि अगर फेल छात्रों की कापी फिर से जांच कर रिजल्ट नहीं जारी किया गया तो वह आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे।
आन्दोलन कारी छात्र विशाल ने बताया की विवि ने रिजल्ट तैयार करने में गड़बड़ी की है। छात्र रोहित का कहना है कि उनके मार्कशीट पर फेल लिख दिया गया है। परीक्षा नियंत्रक बीएन सिंह ने कहना है कि जो बच्चे शिकायत करेंगे उनकी समस्या का समधान किया जाएगा। हलांकि छात्रों ने पांच सूत्रीय ज्ञापन विश्वविद्यालय प्रशासन को सौंपते हुए एक सप्ताह का समय दिया है कि हमारे मांग पत्र पर गम्भीरता पूर्वक विचार करते हुए परीक्षा परिणाम ठीक किया जाये अन्यथा छात्र विश्वविद्यालय परिसर में बड़ा प्रदर्शन करने को मजबूर होगे। 
इस संदर्भ में विश्वविद्यालय के कुलसचिव से बात करने पर उन्होंने बताया कि परीक्षा परिणाम जारी होने के बाद कुछ छात्र परिणाम से संतुष्ट नहीं थे आये और अपना मांग पत्र दिये छात्रो के मांग पत्र लेने के उपरान्त कुलपति जी ने छात्रो से बात की और जायज मांगो को मानने का अश्वासन दिया। छात्र पुनर्मूल्यांकन की मांग कर रहे थे जिसे शासन स्तर से बन्द कर दिया गया है। कुलसचिव ने कहा बैक परीक्षा में छात्र भाग लेना चाहेगे तो विश्वविद्यालय अवसर प्रदान करेगा। यह परीक्षा पूरा परिणाम घोषित होने के बाद हो सकती है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज

यूपी के गांव में जमीनी विवाद खत्म करने के सरकार ने बनायी यह योजना,नहीं होगी मुकदमें की नौबत