हाईकोर्ट की शख्ती के बाद मैनपुरी छात्रा काण्ड में सरकार भी सक्रिय, गठित किया एसआईटी टीम, जानें कौन है सदस्य


हाईकोर्ट के दिशा निर्देश मिलने के बाद योगी सरकार ने मैनपुरी के नवोदय स्कूल की छात्रा की मौत के मामले में 6 सदस्यीय एसआईटी का गठन किया है। सरकार के निर्देश पर डीजीपी ने एडीजी कानपुर भानु भास्कर को इस एसआईटी की कमान सौंपी है। पूर्व में आईजी कानपुर मोहित अग्रवाल के नेतृत्व में तीन सदस्यीय एसआईटी इस मामले की जांच कर रही थी। अब इस मामले में 6 सदस्यीय एसआईटी छात्रा की मौत से पर्दा हटाने के लिए लगाई गई है।

2 वर्ष पूर्व 16 सितंबर 2019 को मैनपुरी के कस्बा भोगांव के निकट स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय परिसर में कक्षा 11 की छात्रा का शव फांसी पर लटका मिला था। इस घटना की जांच के लिए परिजनों की मांग पर योगी सरकार ने तीन सदस्यीय एसआईटी का गठन किया था। इस इसआईटी में मोहित अग्रवाल आईजी कानपुर के नेतृत्व में एसपी मैनपुरी और एसटीएफ आगरा के सीओ श्यामकांत को लगाया गया था। लेकिन आईजी कानपुर के नेतृत्व में बनी इस एस आईटी ने अब तक इस मामले का खुलासा नहीं कर पाया।

पिछले दिनों हाईकोर्ट की सख्ती के बाद डीजीपी ने एडीजी कानपुर भानु भास्कर के निर्देशन में 6 सदस्यीय जांच समिति बनाई है। हालांकि तीन दिन पूर्व हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान दूसरी एसआईटी में एडीजी कानपुर के साथ आईजी कानपुर, एसपी मैनपुरी तथा एसटीएफ के एएसपी राकेश यादव लगाए गए थे। लेकिन अब इसमें दो सदस्य और बढ़ा दिए गए हैं। हाईकोर्ट के निर्देश पर नवगठित एसआईटी अगले 6 सप्ताह में इस पूरे प्रकरण की नए सिरे से जांच करेगी और अपनी रिपोर्ट उपलब्ध कराएगी।


ये एसआईटी अब करेगी मामले की जांच


भानु भास्कर - एडीजी कानपुर ज़ोन, अध्यक्ष


जीके गोस्वामी आईजी एटीएस-सदस्य


मोहित अग्रवाल आईजी कानपुर रेंज-सदस्य


अशोक कुमार एसपी मैनपुरी-सदस्य


राकेश यादव, एएसपी, एसटीएफ, सदस्य


तनु उपाध्याय-डिप्टी एसपी कानपुर देहात, सदस्य


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

विधायक और सपा नेता के बीच मारपीट की घटना का जानें सच है क्या,आखिर जिम्मेदार के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं

स्वागत कार्यक्रम में सपाईयों के बीच मारपीट की घटना से सपा की हो रही किरकिरी

हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज मौलाना फरार