कांग्रेस से अदिती सिंह ने की बगावत, भाजपे में गयी तो पति होंगे संकट में,ऐसे में 2022 में जानें कैसे लड़ेगी चुनाव


उत्तर प्रदेश की रायबरेली सदर सीट से विधायक अदिति सिंह अगले साल प्रस्तावित विधान सभा चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार हो सकती हैं। पिछला विधानसभा चुनाव उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर जीता था। हालांकि तकरीबन डेढ़ साल से उन्होंने खुद को वैचारिक तौर पर कांग्रेस से अलग कर लिया है।
सूत्रों के मुताबिक उनके भाजपा में जाने का बड़ा नुकसान उनके पति अंगद सिंह सैनी को हो सकता है, जो पंजाब की नवांशहर सीट से विधायक हैं। रायबरेली, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र है। ऐसे में अगर अदिति कांग्रेस से बगावत करके भाजपा जॉइन करती हैं तो उनके पति के लिए कांग्रेस में रहना असहज हो सकता है।
कहा जा रहा है कि ऐसी स्थिति से बचने के लिए अदिति पिता अखिलेश सिंह की राह पर चलने का फैसला ले सकती हैं। पिता भी कांग्रेस से विधायक थे, जिसके बाद उनके संबंध कांग्रेस से खराब हुए लेकिन उन्होंने कांग्रेस को असहज करने के लिए भाजपा जॉइन नहीं की।
वहीं, सूत्रों का दावा है कि अदिति सपा के भी संपर्क में हैं। सपा उन्हें अपने पाले में करना चाहती है। हालांकि इस बाबत अबतक अदिति ने कोई फैसला लिया नहीं है
साल 2019 अगस्‍त में अदिति के पिता अखिलेश सिंह का निधन हुआ था। अखिलेश रायबरेली सदर सीट से पांच बार विधायक रह चुके थे। रायबरेली में उनकी अच्‍छी-खासी पैठ थी और गांधी परिवार से नजदीकियां भी। पिता के निधन के बाद अदिति सिंह ने कांग्रेस छोड़ दी। इतना ही नहीं उन्होंने खुलकर कांग्रेस के खिलाफ बोला। 21 नवंबर 2019 को अदिति सिंह ने पंजाब के कांग्रेस विधायक अंगद सिंह संग शादी कर ली थी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

असलहा बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ बड़ी तादाद में मिले तमंचे, चार गिरफ्तार पहुंचे सलाखों के पीछे

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ