अयोध्या से लेकर काशी तक गहराता आतंकी साया, तीन आतंकियों के बाद उनके तीन साथी भी एटीएस ने पकड़े



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब यूपी के अलीगढ़ में थे, उसी दौरान आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) अन्य जांच एजेंसियों के सहयोग से उत्तर प्रदेश के कई शहरों में आतंकियों के नाखून उखाड़ रहा था। लखनऊ, प्रयागराज और रायबरेली से आइएसआइ की फंडिंग से संचालित माड्यूल से जुड़े तीन आतंकियों के पकड़े जाने के बाद एटीएस ने उनके तीन सहयोगियों को भी हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है।
एक बार फिर अयोध्या, काशी, मथुरा से लेकर उत्तर प्रदेश के बड़े शहरों में धमाकों की गहरी साजिश की परतें खुल रही हैं। बीते दिनों राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रदेश में हुए दौरों के दौरान इनकी गतिविधियों को लेकर भी छानबीन तेज की गई है। दीपावली में प्रधानमंत्री का अयोध्या में आगमन भी प्रस्तावित है। विधानसभा चुनाव से पहले सूबे में जिस तरह आतंकी संगठनों के अलग-अलग माड्यूल की सक्रियता सामने आ रही है, उसने सुरक्षा एजेंसियों की चुनौतियां कई गुना बढ़ा दी हैं।
एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार का कहना है कि कुछ इनपुट मिले थे, जिसके बाद एटीएस ने मंगलवार को लखनऊ, प्रयागराज, ऊंचाहार (रायबरेली) और प्रतापगढ़ में अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी की। इनमें रायबरेली के ऊंचाहार से मूलचंद, लखनऊ के आलमबाग से मु.आमिर जावेद और प्रयागराज के करेली निवासी जीशान कमर को पकड़ा गया, जिसके बाद उनके तीन अन्य साथियों को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। इनमें एक युवक प्रयागराज व एक युवक लखनऊ से हिरासत में लिया गया है। शुरुआती पूछताछ में अयोध्या से लेकर प्रदेश के कई बड़े शहर आतंकी संगठन के सीधे निशाने पर होने की बात सामने आई है। लखनऊ में बढ़ती आतंकी गतिविधियां बड़े खतरे की घंटी भी है।
बता दें कि 11 जुलाई को एटीएस ने लखनऊ से दुर्दांत आतंकी संगठन अलकायदा के समर्थित अंसार गजवातुल हिंद माड्यूल के आतंकी मिनहाज व मसीरुद्दीन को गिरफ्तार कर कुकर बम भी बरामद किया था। बाद में लखनऊ से ही उनके तीन अन्य साथी शकील, मु.मुस्तकीम व मु.मुईद को गिरफ्तार किया गया था। पूछताछ में आरोपितों के कानपुर से लेकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई शहरों तक फैले गहरे कनेक्शन सामने आए थे। मामले की छानबीन अभी चल रही है। अब मिनहाज व उसके साथियों के आइएसआइ माड्यूल के आतंकियों से आपसी कनेक्शन की भी छानबीन होगी। इससे पूर्व एसटीएफ ने पीएफआइ (पापुरल फ्रंट आफ इंडिया) के कमांडर अंसद बदरुद्दीन व ट्रेनर फिरोज खान को लखनऊ से विस्फोटक के साथ गिरफ्तार किया था। तब पुलिस ने दोनों से पूछताछ में बड़े शहरों को दहलाने की गहरी साजिश सामने आने का दावा किया था।
प्रयागराज में इंडस्ट्रियल एरिया स्थित एक हाते में बने कमरे में छिपाकर रखा गया बम बरामद हुआ है। अधिकारियों का कहना है कि टीन के पीपे में बम बरामद हुआ है, जिसे निष्क्रिय करने के लिए एनएसजी की टीम से भी संपर्क साधा गया है। बरामद आइईडी की फोरेंसिक जांच भी कराई जाएगी। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि बरामद बम से कहां धमाका किया जाना था।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

सीएम योगी का चुनावी वादा बिजली बिल बकाये को लेकर दिया यह आदेश

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज