वित्त विहीन शिक्षको का छलावा बन्द करे सरकार - रमेश सिंह



जौनपुर। जब चुनाव निकट आता है, प्रदेश सरकार और उसके नुमाइंदे लाखों वित्त विहीन शिक्षक साथियों को केवल वोट बैंक समझते हुए, हवा-हवाई घोषणाओं की झड़ी लगा देते हैं। उक्त बातें कहते हुए उ0 मा0शि0 संघ (सेवारत) के प्रदेश अध्यक्ष रमेश सिंह ने पिछले दिनों सरकार द्वारा वित्तविहीन शिक्षकों को चेक/बैंक खाते के माध्यम से भुगतान किए जाने सम्बन्धी जारी किए गए आदेश की कड़ी आलोचना करते हुए इसे आगामी विधानसभा चुनाव के लिए शिगूफा बताया है।
रमेश सिंह ने यह भी कहा कि जब सरकार द्वारा कोई सेवा नियमावली बनायी ही नहीं गयी और सेवा दशा बनाते हुए शिक्षकों को चिन्हित ही नहीं किया गया तो फिर भुगतान किसे? करने का आदेश निर्गत किया गया है? पिछले कोरोना संकट के दौरान एक भी रूपये की मदद नहीं करने वाली सरकार वित्त विहीन शिक्षक साथियों के साथ केवल मजाक कर रही है और अफसोस की बात यह है कि पिछले विधान परिषद चुनाव में इन्हीं वित्तविहीन शिक्षकों के वोटों से चुनाव जीते सभी शिक्षक विधायकों के मुँह पर ताला लगा हुआ है। शिक्षक विधायकों की कोई लाचारी या मजबूरी हो सकती है कि वे आवाज न उठाएं लेकिन उ0प्र0मा0शि0 संघ (सेवारत) सरकार के इस जुमलेबाजी का विरोध करते हुए वित्तविहीन शिक्षक साथियों के लिए सेवा नियमावली बनाते हुए, उन्हें सम्मानजनक मानदेय दिलाने की लड़ाई लड़ने के लिए कृतसंकल्पित है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक

पूर्वांचल की राजनीति का एक किला आज और ढहा, सुखदेव राजभर का हुआ निधन