देश कोरोना मुक्त करने के लिए आज से हर घर दस्तक अभियान,40 डीएम के साथ पीएम की बैठक


भारत को कोरोना मुक्त देश बनाने के लिए और टीकाकरण अभियान की गति तेज करने के लिए केंद्र सरकार आज (1 नवंबर) से एक नए अभियान की शुरुआत करने जा रही है। केंद्र राज्य सरकारों के साथ मिलकर "हर घर दस्तक" अभियान की शुरू करेंगी। आइए जानते है क्या है ये "हर घर दस्तक" अभियान? कुछ दिन पहले ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया  ने राज्य सरकारों के साथ बैठक करने के बाद बताया था कि नवंबर से हर राज्य के जिलों में एक अभियान चलाया जाएगा, जिसमें लोगों को कोविड-19 टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जाएगा। यह अभियान 40 जिलों के गांवों में शुरू किया जाएगा। 
बता दें कि इस अभियान को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 40 डीएम के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक झारखंड, महाराष्ट्र, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर समेत अन्य राज्यों के सुस्त रफ्तार वाले 40 जिलों के डीएम शामिल होंगे। क्या है "हर घर दस्तक" अभियान? केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, जिन जिलों में कोरोना वैक्सीनेशन के खराब प्रदर्शन पाए जा रहे है, उन जिलों में घर-घर जाकर कोविड-19 टीकाकरण के लिए लोगों को प्रेरित किया जाएगा। इस अभियान का नाम "हर घर दस्तक" होगा। इस अभियान में मेडिकल टीम हर घर जाकर दस्तक देगी। लोगों को वैक्सीन के बारे में जागरुक करेंगी। जिन लोगों ने अब तक वैक्सीन नहीं लगवाई है या फिर दूसरा डोज लगवाने नहीं ली है । उन लोगों तक टीकाकरण पहुंचाने की पूर्ण जिम्मेदारी मेडिकल टीम की होगी। इसके लिए अलग-अलग ब्लॉकों के गांवों में शिविर लगाए जाएंगे। इसके लिए गांवों को 3 भागों में बांटा जाएगा। जिससे कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया जा सके।
"हर घर दस्तक" अभियान का उद्देश्य मंत्रालय के अनुसार, "हर घर दस्तक" अभियान का उद्देश्य है- देश के लोगों को कोरोना वायरस से बचने और पूर्व टीकाकरण के लिए प्रेरित करना। भारत में कोरोना केस  31 अक्टूबर को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए कोरोना रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में भारत में 12,830 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं। इस दौरान 14,667 कोरोना मरीज ठीक हुए है, जबकि 446 लोगों की मौतें हुईं। देश में कोरोना के कुल 1,59,272 मामले सक्रिय है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देश में रिकवरी रेट फिलहाल 98.20 फीसदी है। सक्रिय मामलों में कुल मामलों का 1% से भी कम हिस्सा है, जो वर्तमान में मार्च 2020 के बाद से 0.46% सबसे कम है। पिछले 27 दिनों के लिए दैनिक सकारात्मकता दर (1.13%) 2% से कम रही, वहीं पिछले 37 दिनों के लिए साप्ताहिक सकारात्मकता दर (1.18%) 2% से कम है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर