भारत के विकास के लिए विवेकानंद एवं जापान को समझना होगा


स्वामी विवेकानंद जी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी डॉ संतोष कुमार पाण्डेय, सहायक प्रोफेसर राजनीति विभाग , राजा श्री कृष्ण दत्त पी जी कॉलेज, जौनपुर के द्वारा वर्चुअल मीटिंग का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय सेवा योजना , उत्तर प्रदेश लखनऊ निदेशालय के निदेशक माननीय डॉ अशोक श्रोती ने कार्यक्रम से जुड़े समस्त युवा पीढ़ी को स्वामी विवेकानंद के आदर्श एवं विचार से अवगत कराते हुए सकारात्मक दिशा में जोश एवं उत्साह से भरे रहने की सलाह दी और सभी मुश्किलों को धैर्य धारण करते हुए निरंतर प्रयास से समाधान करने का सुझाव दिया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे महाविद्यालय के प्राचार्य रहे कैप्टन डॉ अखिलेश्वर शुक्ला जी ने विवेकानंद के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए भारतीय धर्म , संस्कृति एवं युवा वर्ग को दिए गए शिक्षा से अवगत कराते हुए कहा कि भारत के विकास के लिए भारतीय युवाओं को स्वामी विवेकानंद एवं जापान के संबंध में अच्छी तरह से पढ़ने एवं समझने की आवश्यकता है।
 कार्यक्रम के आयोजक कार्यक्रम अधिकारी डॉ संतोष पाण्डेय ने आज के दिन को महत्वपूर्ण बताते हुए अपने स्वयंसेवियों से ये अपेक्षा किया की भारत युवा शक्ति है और आज के दिन को सार्थक बनाते हुए युवा शक्ति को भ्रमित होने से बचाने के लिए संकल्प लेना चाहिए।
कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कार्यक्रम अधिकारी, डॉ मधु पाठक ने कहा कि स्वामी विवेकानंद भारत के विकास में महिला सशक्तिकरण को महत्वपूर्ण मानते थे ऐसे में सभी युवाओं को उनके इस आदर्श की सारगर्भिता को समझने की आवश्यकता है। तकनीकी प्रबंध का कार्य देखने के लिए अदिति एवं अंशु सहित इस अवसर पर आफताब, सत्यम सुंदरम मौर्य , बृज मोहन गुप्ता ऋतिक यादव, आंचल , अंकिता , आशुतोष, मोनी , राहुल, सोनी, गोपाल , मनीष, चंद्रशेखर, सुमित सिंह, आनंद, अभिषेक, आशीष, पूजा , रिंकी, संध्या, सोनल, गोपाला आदि अन्य सभी उपस्थित स्वयंसेवियों को भी धन्यवाद ज्ञापित किया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर

महज 20 रूपये के लिए रेलवे से लड़ा 22 साल मुकदमा और जीता,जानें क्या है मामला