भाजपा को छोड़ते ही एनबीडब्लू वारंट का जिन अब स्वामी प्रसाद मौर्य की तलाश किया शुरू


जौनपुर। वर्ष 2014 में देवी देवताओ पर की गयी टिप्पणी को लेकर न्यायालय में विचाराधीन एक मामले में भाजपा से त्यागपत्र देने के बाद एम पी, एम एल ए कोर्ट से स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ जारी गैर जमानती वारंट को लेकर सियासत एक बार फिर गरमायी है। जन चर्चा है कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने भजपा को करारा झटका देते हुए पार्टी को अलविदा कहा तो दूसरे दिन छ वर्षो से ठंडे बस्ते में पड़ा जिन्न बाहर आ गया है जो स्वामी प्रसाद मौर्य के वारंट के रूप में पीछ कर लिया है।
इस संदर्भ में सपा के जिलाध्यक्ष लालबहादुर यादव ने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा भाजपा छोड़ने के तुरंत बाद भाजपा द्वारा बदले की भावना से कानूनी कार्रवाई शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में स्वामी प्रसाद मौर्य ने टिप्पणी की थी तो इतने दिनो तक कोई कार्रवाई नही हुई जब पार्टी छोड़कर हटे तो उनके पीछे भाजपा नेतृत्व ने जरिए न्यायपलिका एक जिन्न छोड़ दिया गया है।
कोर्ट ने कहा कि यह आदेश निर्धारित तिथि पर कोर्ट से अनुपस्थित रहने पर प्रभावी होगा। इस तरह 06 साल पुराने मामले को लेकर भाजपा स्वामी प्रसाद मौर्य को घेरने में जुट गयी है। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा की चाल अब एक्सपोज हो चुकी है। अब जनता सब कुछ समझ रही है समय आने पर जबाब जरूर देगी। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर

महज 20 रूपये के लिए रेलवे से लड़ा 22 साल मुकदमा और जीता,जानें क्या है मामला