आराधना और ज्ञान का महापर्व है वसंत पंचमी : प्रो.निर्मला एस. मौर्य


पीयू में मंत्रोचार के बीच हुई वाग्देवी की पूजा-अर्चना

जौनपुर । वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय परिसर में वसंत पंचमी के अवसर पर शनिवार को प्रशासनिक भवन में मां सरस्वती का पूजन-अर्चन कार्यक्रम संपन्न हुआ। कुलपति ने शिक्षकों और अधिकारियों संग विधिवत मां वाग्देवी का पूजन किया। विश्वविद्यालय के कर्मचारी शशिकांत त्रिपाठी और त्रिभुवन पांडेय ने विधिवत मंत्रोच्चार के साथ पूजन-अर्चन कराया। 
इस अवसर पर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफ़ेसर निर्मला एस. मौर्य ने सभी को वसंत पंचमी की शुभकामना देते हुए कहा कि आज के दिन ज्ञान की देवी मां सरस्वती का प्राकट्य दिवस है। पौराणिक मान्यता है कि वाग्देवी मां सरस्वती की आराधना और ज्ञान के महापर्व को वसंत पंचमी के रूप मेें मनाया जाता है। एक दूसरी मान्यता है कि वसंत पंचमी से शीत ऋतु का समापन धीरे-धीरे शुरू होता है। इस अवसर पर कुलसचिव महेंद्र कुमार, वित्त अधिकारी संजय राय, परीक्षा नियंत्रक वीएन सिंह, प्रो.देवराज सिंह, सहायक कुलसचिव अमृत लाल, बबिता सिंह, दीपक सिंह, डॉ. जान्हवी श्रीवास्तव, डॉ. सुनील कुमार, डा. अवध बिहारी सिंह, डॉ.मनोज कुमार पांडेय, डॉ नीतेश जायसवाल, नीता गुप्ता  पुष्पलता त्रिपाठी, डॉ. विनिता सिंह, पूजा सक्सेना, जया शुक्ला, डॉ. अमित वत्स, रामजी सिंह, डॉ. लक्ष्मी मौर्य, कलावती देवी, डॉ प्रमोद कुमार कौशिक, सुबोध कुमार पांडेय, श्रीनाथ यादव, जगदंबा मिश्र, इंद्रेश कुमार गंगवार, केशव यादव, सतीश सिंह, पंकज सिंह, हरिश्चंद्र मौर्य समेत तमाम शिक्षक और कर्मचारी मौजूद थे। विश्वविद्यालय के रज्जू भैय्या संस्थान में भी सरस्वती पूजन का आयोजन किया गया। इस अवसर पर प्रो. देवराज सिंह, डा. प्रमोद कुमार, डा. नीरज अवस्थी, डा. श्रवण कुमार समेत कई शिक्षक उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

खुशखबरी: बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग में मुख्य सेविका पद पर होगी भर्ती,जानें कौन कर सकेगा आवेदन