युवा विरोधी सरकार को सत्ता से बाहर करने के लिए उठें नौजवान, लिखे इन्कलाब- विवेक रंजन यादव



जौनपुर। वर्तमान भाजपा सरकार का लोकतांत्रिक ढांचे से कोई लगाव नहीं  है और आम जनमानस के दुःख दर्द से भी इन्हें कुछ लेना देना नहीं है। ये लोग येनकेंन सिर्फ सत्ता में बने रहना चाहते है। चुनावी सफलता के लिए जनता को कुचलने और देश को तबाह करने वाली नीतियों को अपनाने में भाजपा को कोई संकोच नहीं  है।

उक्त बातें सपा के प्रदेश सचिव विवेक रंजन ने शनिवार को महाकवि सूर्यकांत त्रिपाठी निराला व बसंत पंचमी के अवसर पर जनपद के युवा एवं छात्रों को सोसल मीडिया के माध्यम से संबोधन में कही और प्रदेश में भर्तियों और छात्रसंघ चुनाव रोके जाने का जिक्र करते हुए  कहा कि छात्रसंघ राजनीति की नर्सरी है छात्रसंघ हमारे लोकतांत्रिक प्रणाली को बजबूती प्रदान करने का एक बजबूत स्तम्भ है। सत्ता में बैठे लोग ऐसी संस्थाओं को अतिक्रमित कर लोकतंत्र को पंगु बनाने का सपना देख रहे है जिसके खिलाफ छात्रों एव युवाओं को एकजुट होकर जबाब देना होगा।आज अगर ऐसे सत्तालोलुप मानसिकता को नहीं रोका गया तो आने वाला समय वर्तमान पीढ़ी को माफ नही करेगा। यह बड़ी जिम्मेदारी युवा और छात्र आप के मजबूत कन्धों पर है। इतिहास गवाह है कि जब जब छात्र नौजवानों ने हुंकार भरी है।तब तब कोई भी अहंकारी सत्ता हो नेस्तनाबूत हो गई है।
उत्तर प्रदेश में युवाओं के नौकरियों में भर्तियों पर चर्चा करते हुए कहा कि वर्तमान योगी सरकार "लाठी मार"और "लीक" सरकार है। राजधानी लखनऊ में जब भी कोई संगठन अपनी समस्या सरकार तक पहुंचाने के लिए पहुंचा उसके सदस्यों को लाठियों से लहूलुहान किया गया,पहली बार महिला शिक्षामित्रों ने सरकार के दरवाजे पर बैठ कर अपने सर के बाल का मुण्डन कराया जिसे हमारी परम्परा भी अशुभ मानती है लेकिन सिर्फ कहने को संत हमारे मुख्यमंत्री योगी ने उन महिला शिक्षामित्रों का उपहास उड़ाया इससे दुर्भाग्यपूर्ण और क्या हो सकता है?अनुदेशकों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा गया।टेट पास युवाओं के साथ भी वही हुआ अशाबहू, आंगनबाड़ी कार्यकर्ती सभी लोगो को मांग के बदले लाठी मिली इसी लिए मेरे जैसा आदमी इस सरकार को लाठी की सरकार कहता है। गरीब और सामान्य परिवार के छात्र प्रतियोगी परीक्षाओं का आवेदन मन मे अनेको अरमान लेकर घर के अन्य खर्चो को काट कर करता है और जब परीक्षा केंद्र पर जाता है तो सुनता है कि प्रश्नपत्र लीक हो गया इसी लिए प्रदेश के लोगो ने इस सरकार को "लीक सरकार" की संज्ञा दी दिया है। 
प्रदेश के विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय के छात्रसंघों ने देश  और प्रदेश का नेतृत्व करने वाले एक से बढ़ कर एक जुझारू, कर्मठ और ईमानदार नेता दिया उन छात्रसंघों को खत्म करने की साजिश वर्तमान मुख्यमंत्री कर रहे है। वह जानते है कि छात्रसंघ से निकला छात्रनेता

ईमानदार,लड़ाकू,कर्मठ एवं वाद बिहीन होता है अन्याय के खिलाफ आवाज़ उठाने का साहस उसमें होता है।छात्रों नौजवानों आप से अपील है कि मौका बार -बार बार नहीं मिलता इतिहास में नाम लिखवाने का, इस अहंकारी सरकार के ललाट पर इन्कलाब लिख दो और बता दो कि देश के वीर सपूतों की सहादत से प्राप्त यह आज़ादी और उस आज़ादी से मिले लोकतांत्रिक अधिकार को कुचलने वाले लोगो को देश की युवा पीढ़ी कामयाब नही होने देगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर का बेटा बना यूनिवर्सिटी आफ टोक्यो जापान में प्रोफ़ेसर, लगा बधाईयों का तांता

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

यूपी में फिर 11 आईएएस अधिकारियों का तबादला, देखे सूची