सहजता और सरलता की प्रतिमूर्ति थे वीर बहादुर सिंह: प्रो. निर्मला एस. मौर्य

वीर बहादुर सिंह की जयंती कर कुलपति ने अर्पित किया श्रद्धा सुमन

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय में शुक्रवार को वीर बहादुर सिंह की जयंती धूमधाम से मनाई गई। इस अवसर पर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. निर्मला एस. मौर्य ने कहा कि वीर बहादुर सिंह देश और प्रदेश की राजनीति में ऊंचे -ऊंचे पदों पर रहे, लेकिन उन्होंने सहजता सरलता और सादगी को अपने जीवन में हमेशा अपनाया। वह गरीबों के मसीहा थे l साथ ही हर वर्ग के प्रति समान और सम्मान का भाव रखते थे। प्रदेश की राजनीति में जहां सत्ता पक्ष का साथ दिया वही उन्होंने विपक्षियों का भी सम्मान किया। 

इस अवसर पर प्रो.देवराज सिंह, डॉ.सुजीत चौरसिया, डॉ. धीरेन्द्र चौधरी, डॉ. लक्ष्मी प्रसाद मौर्य, रमेश पाल, शीलनिधि सिंह, धीरज श्रीवास्तव आदि शिक्षक और कर्मचारी मौजूद थे।विश्वविद्यालय परिसर के फार्मेसी संस्थान में वीर बहादुर सिंह की जयंती पर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन हुआ जिसमें आस्था गुप्ता को प्रथम और विवेक पांडेय को द्वितीय पुरस्कार मिला। भाषण प्रतियोगिता में अंकुर राय और जाह्नवी पाल को क्रमशः प्रथम और द्वितीय पुरस्कार दिया गया। इसी क्रम में गायन प्रतियोगिता में रश्मि श्रीवास्तव प्रथम और धीरज मिश्रा दूसरे नंबर पर हैं। प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में डॉक्टर सौरभ पाल डॉक्टर रसिकेश थे। इस अवसर पर डॉ विनय वर्मा, डॉ प्रमोद सिंह कौशिक, डॉक्टर आरके जैन,विशाल मौर्य, सफीउल्लाह जिलानी, सुमित सिंह , आदित्य मिश्रा सुप्रिया सिंह विक्रमजीत यादव रश्मि श्रीवास्तव, विशाखा जायसवाल आदि मौजूद थे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन