बैंक में हुए 45 करोड़ रुपए गबन करने वाली टीम का एक सदस्य और पहुंचा सलाखों के पीछे


लखनऊ स्थित  केनरा बैंक में 45 करोड़ रुपये गबन के मामले में कृष्णानगर पुलिस ने एक और आरोपित संजय अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया। संजय ने जालसाजों के लिये फर्जी दस्तावेज तैयार किए थे। इस मामले में अब तक बैंक मैनेजर समेत सात आरोपित गिरफ्तार हो चुके हैं। इस मामले में दो मुख्य आरोपित अभी फरार है।
इंस्पेक्टर कृष्णानगर आलोक राय के मुताबिक 31 जनवरी 2021 को केनरा बैंक के क्षेत्रीय कार्यालय प्रमुख मनोज मीणा ने कृष्णानगर कोतवाली में बैंक मैनेजर अखिलेश कुमार और अन्य के खिलाफ 45 करोड़ रुपये की हेराफेरी करने की रिपोर्ट लिखायी थी। अखिलेश कुमार को जालसाजों ने कम समय में ज्यादा मुनाफे का लालच दिया था। इस लालच में ही आकर अखिलेश ने उपसा का 41 करोड़ 76 लाख रुपये जालसाजों के खाते में जमा करा दिये थे। इसमें जालसाजों ने फर्जी दस्तावेज लगाये थे। कुछ समय बाद उपसा ने अपनी रकम वापस मांगी तो जालसाजी का खुलासा हुआ था।
इंस्पेक्टर ने बताया कि कंचननगर, कल्याणपुर निवासी संजय अग्रवाल ने ही फर्जी दस्तावेज तैयार कराए थे। इस मामले में पुलिस ने पहली गिरफ्तारी बैंक मैनेजर अखिलेश कुमार की 31 जनवरी, 2021 को ही की थी। इस मामले में छह आरोपित पहले से जेल में हैं। इंस्पेक्टर आलोक राय ने बताया कि दो आरोपित राज दुग्गल और सतीश अभी फरार है। एक आरोपित अमित को मुम्बई पुलिस ने दूसरे मामले में गिरफ्तार किया था। पुलिस जल्दी ही अमित का वारंट बी तामील करायेगी ताकि उसे लखनऊ लाया जा सके। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

जानिए इंटर के छात्र ने प्रधानाचार्य को गोली क्यों मारी, हालत नाजुक, छात्र पुलिस पकड़ से दूर